Saturday , October 21 2017
Home / AP/Telangana / फिल्मों में काम करने के शौक़ ने क़ातिल बना दिया

फिल्मों में काम करने के शौक़ ने क़ातिल बना दिया

हैदराबाद 21 मार्च: पुराने शहर के इलाके शाह इनायतगंज से दसवीं जमात के स्टूडेंट् अभए के अग़वा और क़त्ल में शामिल 3 ख़ातियों को वाक़िया पेश आने के अंदरून 48 घंटे गिरफ़्तार कर लिया गया। कमिशनर पुलिस हैदराबाद एम महेंद्र रेड्डी ने अपने दफ़्तर में प्रेस कांफ्रेंस से ख़िताब करते हुए बताया कि टास्क फ़ोर्स की टीमों ने वेस्ट ज़ोन पुलिस की मदद से 15 साला स्टूडेंट के अग़वा और क़त्ल के मुअम्ले को कामयाब तरीकके से हल कर लिया।

उन्होंने बताया कि अभए को मशरिक़ी गोदावरी से ताल्लुक़ रखने वाला 20 साला सुयशा कुमार उर्फ़ साई राम उर्फ़ साई ने 16 मार्च की शाम को शाह इनायतगंज के इलाके घोड़े की क़ब्र के क़रीब अभए का अग़वा किया था। उन्होंने बताया कि इस जुर्म के लिए साई ने अपने दो साथी 21 साला पोनडारा रवी और 23 साला नामबोरी मोहन दोनों का ताल्लुक़ श्रीकाकुलम से है, की मदद हासिल की और अभए को मन्सूबा बंद तरीके से अग़वा करने के बाद करोड़ों रुपये का तावान का मुतालिबा किया।

महेंद्र रेड्डी ने बताया कि साई हिन्दीनगर में एक मुअम्मर शख़्स की देख-भाल की मुलाज़मत करता था जिसके बदले उसे 7,000/- रुपये का मुआवज़ा मिलता था। साई ने फेसबुक के ज़रीये जारीया साल फरवरी में एक मूवी आर्टिस्ट बालू पाल से राबिता क़ायम किया और बादअज़ां फिल्मों में अदाकारी के लिए अपना इरादा ज़ाहिर किया जिस पर बालू पाल ने इस से कहा कि फिल्मों में अदाकारी के लिए उसे भारी रक़म की अदायगी और डांस में महारत हासिल करनी ज़रूरी है। साई ने अपने दो साथी रवी और मोहन को इस बारे में बताया जिस पर उन्होंने भी फिल्मों में अदाकारी करने की ख़ाहिश ज़ाहिर की और उसने श्रीकाकुलम से हैदराबाद मुंतक़िल हो कर हिन्दीनगर में वाक़्ये एक किराये का मकान हासिल किया। 14 मार्च को तीनों मुल्ज़िमीन ने यू टयूब पर एक रोमांटिक क्राईम मूवी देखी जिससे रहज़नी और अग़वा का ख़्याल उन्हें आया और अभए क़त्ल केस का कलीदी मुल्ज़िम साई ने अपने दो साथीयों को बताया कि वो एक सनअत कार के बेटे अभए को जानता है जिसके अग़वा से वो करोड़ों रुपये की रक़म हासिल कर सकते हैं।

मन्सूबे के तहत साई ने जगदीश मार्किट आबिड्स से फ़र्ज़ी पत्तों पर सिम कार्ड हासिल किए और बेगमबाज़ार से प्लास्टर ख़रीदा। मन्सूबे के तहत 16 मार्च को लिफ़्ट देने के बहाने साई ने अभए को अपने किराये के मकान ले गया जहां पर उसने कूल ड्रिंक भी पिलाई और अपने दो साथी जो पहले ही से वहां मौजूद थे, अभए को अग़वा करने की इत्तेला दी जिस पर अभए ने अपने बाप से रब्त करने के लिए मोबाईल फ़ोन नंबर भी दिया। साई और इस के दो साथीयों ने अभए के हाथ पैर बाँधने के बाद उस के नाक और मुँह पर प्लास्टर चस्पाँ कर दिया जिस के नतीजे में अभए दम घुटने से कुछ ही लम्हों में फ़ौत हो गया। मुल्ज़िमीन , मग़्विया लड़के के बाप से मुसलसिल 5 करोड़ रुपये की रक़म का मुतालिबा कर रहे थे।

अभए की मौत होजाने के बाद वो परेशान हो गए और लाश को ठिकाने लगाने के लिए अपने मकानदार की छत पर मौजूद टीवी के ख़ाली कार्टून को हासिल कर लिया और लाश छुपा देने के बाद उसे आटो ट्राली में सिकंदराबाद मुंतक़िल करने से पहले जगदीश मार्किट आबिड्स से नए सिम कार्ड्स हासिल किए जहां पर ताख़ीर के सबब आटो ट्राली ड्राईवर ने पार्सल को सिकंदराबाद ले जाने से इनकार कर दिया जिसके नतीजे में वो पैसेंजर आटो में सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन के क़रीब मुंतक़िल किया और स्टेशन के अंदर ले जाने में नाकामी के बाद उन्होंने अल्फ़ा होटल, सिकंदराबाद के क़रीब लाश को फेंक कर वहां से ट्रेन में फ़रार हो गए।

टास्क फ़ोर्स टीमों ने ख़ातियों को बहिरामपूरा ओडीशा औरश्रीकाकुलम से गिरफ़्तार कर लिया। कमिशनर पुलिस ने बताया कि इस केस में मुल्ज़िमीन की सज़ा को यक़ीनी बनाने के लिए पुलिस ने अहम शवाहिद सीसीटीवी के कई फूटेजस हासिल करलिए हैं जिसमें साई अपने हमराह मग़्विया लड़के को मोटर साईकल पर ले जा रहा था।

कमिशनर पुलिस ने बताया कि फ़र्ज़ी पत्तों पर सिम कार्ड्स फ़रोख़त करने वाले मोबाईल फ़ोन डीलर्स के ख़िलाफ़ एक मुक़द्दमा दर्ज किया जा रहा है, क्युं कि मुल्क की दाख़िली सलामती के लिए डिपार्टमेंट आफ़ टेली कम्युनिकेशन के क़वानीन की ख़िलाफ़वरज़ी पर मुक़द्दमा दर्ज किया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT