Saturday , October 21 2017
Home / World / फौजी लीडर को क़त्ल करने की पालीसी के अहया पर ग़ौर

फौजी लीडर को क़त्ल करने की पालीसी के अहया पर ग़ौर

यरूशलम, १४ नवंबर (ए एफ पी) इसराईल अपने जुनूबी इलाक़ा पर राकेट हमलों में शिद्दत को रोकने की कोशिश के तौर पर हम्मास की हुक्मरानी वाली गाज़ा पट्टी में अस्करीयत पसंद क़ाइदीन को क़त्ल कर देने की अपनी मुतनाज़ा पॉलीसी का अहया करने पर ग़ौर कर रह

यरूशलम, १४ नवंबर (ए एफ पी) इसराईल अपने जुनूबी इलाक़ा पर राकेट हमलों में शिद्दत को रोकने की कोशिश के तौर पर हम्मास की हुक्मरानी वाली गाज़ा पट्टी में अस्करीयत पसंद क़ाइदीन को क़त्ल कर देने की अपनी मुतनाज़ा पॉलीसी का अहया करने पर ग़ौर कर रहा है, दिफ़ाई ओहदेदारों ने ये बात बताई ।

ये बात कि इसराईल इस पॉलीसी की तजदीद कर सकता है जिस पर उसे सख़्त बैन उल-अक़वामी सरज़निश का सामना हुआ था , ये सुबूत है कि वज़ीर-ए-आज़म बिंजामन नितिन याहू पर किस क़दर दबाव है। अब जबकि इसराईली इंतिख़ाबात को दो माह रह गए हैं, गाज़ा से राकेटों के बार बार हमले जुनूबी इसराईल के एक मिलियन मकीनों की ज़िंदगी दिरहम ब्रहम ( अस्त व्यस्त) हो रहे हैं जिस से हुकूमत पर दबाव पड़ रहा है कि कोई मूसिर कार्रवाई की जाए।

ताज़ा तरीन कशीदगी में गाज़ा के अस्करीयत पसंदों ने हालिया दिनों में इसराईल पर ज़ाइद एक सौ राकेट फ़ायर किए जिस पर इसराईली फ़िज़ाई हमले किए गए जिस से गाज़ा में 6 हलाकतें हुईं। बाअज़ इसराईली सख़्त मिलेट्री कार्रवाई का तक़ाज़ा कर रहे हैं जैसा कि गाज़ा में चार साल क़बल किया गया था।

दीगर का मानना है कि इसराईल को हम्मास के क़ाइदीन को निशाना बनाना चाहीए जो तरीका इसने लग भग एक दहा क़बल दर्जनों अस्करीयत पसंदों को हलाक करने के लिए इख़तियार किया था। वुकला का कहना है कि मख़सूस निशाना बनाकर की जाने वाली हलाकतें मुज़ाहमत का मूसिर तरीका है।

TOPPOPULARRECENT