Wednesday , October 18 2017
Home / Islami Duniya / बंगलादेशः पार्लीयामेंट को सुप्रीम कोर्ट जजेस के मुवाख़िज़ा का इख़तियार

बंगलादेशः पार्लीयामेंट को सुप्रीम कोर्ट जजेस के मुवाख़िज़ा का इख़तियार

बंगलादेशी पार्लीयामेंट ने आज एक अहम दस्तूरी तरमीम करते हुए एक ऐसे बिल को मंज़ूरी देदी जिसके ज़रीया मुल्क की पार्लीयामेंट को सुप्रीम कोर्ट के जजेस का मुवाख़िज़ा करने का इख़तियार हासिल हो जाऐगा। जबकि दूसरी तरफ़ मुलक की सयासी और वुकला-बि

बंगलादेशी पार्लीयामेंट ने आज एक अहम दस्तूरी तरमीम करते हुए एक ऐसे बिल को मंज़ूरी देदी जिसके ज़रीया मुल्क की पार्लीयामेंट को सुप्रीम कोर्ट के जजेस का मुवाख़िज़ा करने का इख़तियार हासिल हो जाऐगा। जबकि दूसरी तरफ़ मुलक की सयासी और वुकला-बिरादरी ने पार्लीयामेंट को अपने इस फ़ैसले पर नज़र सानी का मुतालिबा किया है।

इत्तिला के मुताबिक़,बरसर-ए-इक़तिदार जमात अवामी लीग की ज़ेर-ए-क़ियादत ने गुज़शता रात 16वीं तरमीमी बिल को सिफ़र के मुक़ाबले 327 नेदाई वोट से मंज़ूर रकरलया,जिस से सुप्रीम कोर्ट के जजों का अपने ओहदे का ग़लत इस्तिमाल और उनकी नाएहली पर उनका मुवाख़िज़ा किया जा सकेगा ,इसका मक़सद आला सतही अदालती शोबे में जवाबदेही के अमल को बेहतर बनाना है।

मज़कूरा क़वानीन के मुताबिक़,पार्लीयामेंट कोय इख़तियार हासिल होगा कि वो सरकारी तहक़ीक़ात की बुनियाद पर पार्लीयामेंट में दो तिहाई अक्सरीयत के साथ पास किए गए क़रादाद के ज़रीया सुप्रीम कोर्ट के जजेस को बरख़ास्त कर सकता है,ताहम जजेस को इन पर आइद किए इल्ज़ामात का दिफ़ा करने का मौक़ा दिया जाऐगा।

क़ब्लअज़ीं विज़ारत क़ानून की पारलीमानी स्टनडिंग कमेटी के चियरमैन ने कहा कि हम सिर्फ़ दस्तूर की आर्टीकल 1972का अहया कर रहे हें जिस में कहा गया कि पार्लीयामेंट जजेस को बरख़ास्त करेगा और ना ही उनका मुवाख़िज़ा ,ये सिर्फ़ उनके हवाले से किए गए तहक़ीक़ात को मंज़ूर करेगा।

फ़िलवक़्त सिर्फ़ सुप्रीम कोर्ट जुडीशियल कौंसल जो चीफ़ जस्टिस और सुप्रीम कोर्ट के दो सीनयर तरीन जजेस पर मुश्तमिल होता है , को ही ये इख़तियार हासिल है कि सुप्रीम कोर्ट के जजेस को उनकी ना अहलीयत पर मुवाख़िज़ह कर सकते हैं या उन्हें बरख़ास्त करसकते हैं ,ताहम अब ये इख़तियार पार्लीयामेंट को भी हासिल हो गया है।

TOPPOPULARRECENT