Tuesday , October 17 2017
Home / World / बंगला देश में तशद्दुद जारी, 19 हलाक

बंगला देश में तशद्दुद जारी, 19 हलाक

ढाका, 04 मार्च: बंगला देश में जमाते इस्लामी के सरकरदा क़ाइद को सज़ाए मौत के बाद फूट पड़े तशद्दुद के ताज़ा वाक़ियात में आज तक़रीबन 19 अफ़राद हलाक हो गए। जमाते इस्लामी के रहनुमा को 1971 जंगे आज़ादी के दौरान इंसानियत के ख़िलाफ़ जराइम की बुनिया

ढाका, 04 मार्च: बंगला देश में जमाते इस्लामी के सरकरदा क़ाइद को सज़ाए मौत के बाद फूट पड़े तशद्दुद के ताज़ा वाक़ियात में आज तक़रीबन 19 अफ़राद हलाक हो गए। जमाते इस्लामी के रहनुमा को 1971 जंगे आज़ादी के दौरान इंसानियत के ख़िलाफ़ जराइम की बुनियाद पर सज़ाए मौत सुनाई गई जिस के बाद मुल्क में तशद्दुद का सिलसिला चल पड़ा, और अब तक मरने वालों की तादाद 69 होगई है।

इंटरनेशनल क्राइम्स ट्रीब्यूनल ने 73 साला दिलावर हुसैन सईदी नायब सदर जमाते इस्लामी को सज़ाए मौत सुनाई थी। इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ जमात ने दो रोज़ा हड़ताल का ऐलान किया है, और इत्तिफ़ाक़ से सदर जमहूरिया हिंद परनब मुकर्जी भी उसी वक़्त मुल्क का दौरा कर रहे हैं। ऐसे में अपोज़ीशन लीडर खालिदा ज़िया ने कल परनब मुकर्जी से तए शूदा मुलाक़ात मंसूख़ करदी है। जमाते इस्लामी ने इस हड़ताल का ऐलान किया है।

जमात के कारकुनों ने कल रात एक ट्रेन को नज़रे आतिश कर दिया और शुमाल मग़रिबी बंगला देश में कई पुलिस तंसीबात पर हमले किए। उन्होंने जमात के क़ाइदीन के ख़िलाफ़ जारी मुक़द्दमात को भी रोकने के लिए बड़े पैमाने पर मुहिम शुरू की है। हुक्काम ने शुमाल मग़रिबी बोगरह में फ़ौज को तलब कर लिया है, जहां जमाते इस्लामी कारकुनों के पुलिस स्टेशन पर हमले के बाद फायरिंग में सात अफ़राद हलाक होगए थे।

इस हमले में देसी साख़ता बम और बंदूकों का इस्तिमाल किया गया। फ़ौजी तर्जुमान ने बताया कि मुक़ामी इंतिज़ामिया की दरख़ास्त पर दो प्लाटून ताय्युनात किए गए हैं, क्योंकि कंटोनमेंट इलाक़े में तशद्दुद फूट पड़ा। जमाते इस्लामी की हड़ताल के पहले दिन आज चार अज़ला में तशद्दुद के ताज़ा वाक़ियात पेश आए जिस में 15 अफ़राद बिशमोल 3 ख़वातीन और 2 मुलाज़मीन पुलिस हलाक और तक़रीबन 50 ज़ख़मी होगए।

बोगरह इलाक़े में जमात शब्बीर और मुक़ामी अफ़राद की पुलिस के साथ झड़प में 7 अफ़राद बिशमोल तीन ख़वातीन हलाक होगए और दीगर कई ज़ख़मी होगए जबकि पुलिस आउट‌ पोस्ट पर हमला किया गया और सरकारी और अवामी दफ़ातिर को निशाना बनाया गया। दीगर इलाक़ों में जमाते इस्लामी और इस्लामी छात्र शब्बीर के दो कारकुन हलाक और 21 अफ़राद पुलिस की गोली से ज़ख़मी होगए।

ये वाक़िया राजशाही में पेश आया जहां पुलिस के साथ झड़प होगई और पिकिट पर हमला किया गया। एक और इलाक़े में एक कांस्टेबल हलाक और तीन दीगर ज़ख़मी होगए। जमाते इस्लामी कारकुनों ने कल रात राजशाही में एक ठहरी हुई पैसेंज‌र ट्रेन को नज़रे आतिश कर दिया था, फिर भी इस में कोई जानी नुक़्सान नहीं हुआ। दिलावर हुसैन सईदी जमाते इस्लामी के तीसरे सियासत दां हैं जिन्हें इंटरनेशनल क्राइम्स ट्रीब्यूनल ने मुजरिम क़रार दिया है।

इस मुक़द्दमे की समाअत तीन साल पहले शुरू हुई और मुश्तबा अफ़राद में जमाते इस्लामी से ताल्लुक़ रखने वालों की अक्सरियत है। ट्रीब्यूनल ने जनवरी में पहला फ़ैसला सुनाते हुए साबिक़ जमात-ए-इस्लामी लीडर अबुल कलाम आज़ाद को इन्ही इल्ज़ामात पर मौत की सज़ा सुनाई।

इसी जमात के एक और लीडर अबदुलक़ादिर मलु को फरवरी में जंग के दौरान मज़ालिम के लिए सज़ा सुनाई गई। मुल्क की असल अपोज़ीशन बंगला देश नेशनलिस्ट पार्टी ने जमाते इस्लामी की मुकम्मल ताईद बरक़रार रखी है और जंगी जराइम के लिए जारी मुक़द्दमात की ग़ैर जांबदारी के बारे में सवालात उठाए हैं, फिर भी बी एन पी ने 48 घंटों के बंद की अख़लाक़ी तौर पर ताईद नहीं की है।

TOPPOPULARRECENT