Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / बंजारा हिलज़ और सईदाबाद के दो मुस्लिम तलबा से पूछगिछ।

बंजारा हिलज़ और सईदाबाद के दो मुस्लिम तलबा से पूछगिछ।

हैदराबाद 28 फरवरी: दिलसुखनगर जुड़वां बम धमाकों की जारीया तहक़ीक़ात में मुस्लिम नौजवानों को हिरासत में लेने का सिलसिला हनूज़ जारी है।

हैदराबाद 28 फरवरी: दिलसुखनगर जुड़वां बम धमाकों की जारीया तहक़ीक़ात में मुस्लिम नौजवानों को हिरासत में लेने का सिलसिला हनूज़ जारी है।

शहर से दो नौजवानों को सादा लिबास में मलबूस पुलिस ओहदेदारों ने हिरासत में ले कर उन्हें खु़फ़ीया मुक़ाम पर रख कर उन की तफ़तीश की जा रही है।

पहले वाक़िये में बंजारा हिलज़ के इलाके से बाअज़ नामालूम अफ़राद ने एक मुस्लिम तालिब-ए-इल्म को अचानक हिरासत में ले लिया है। बताया जाता हीके सयद सफ़ी उद्दीन जो एम ई एमजे कॉलेज के तालिब-ए-इल्म हैं इन का नामालूम अफ़राद ने कल शाम हिरासत में लेकर उसे नामालूम मुक़ाम पर मुंतक़िल कर दिया। ताहम पुलिस बंजारा हिलज़ ने इस वाक़िये के ख़िलाफ़ गुमशुदगी का मुक़द्दमा दर्ज करलिया है।

सफ़ी उद्दीन एमजे कॉलेज बंजारा हिलज़ में एम ई साल आख़िर का तालिब-ए-इल्म था और वो अपने पराजकट रिपोर्टस को तैयार करने के साथ साथ डिज़ाइन लिंक इंस्टीटियूट रोड नंबर 12 बंजारा हिलज़ पर तर्बीयत हासिल कररहा था। कल शाम जब वो इंस्टीटियूट से अस्र की नमाज़ के लिए अपने साथीयों के साथ रवाना हुआ और वापिस होरहा था कि अचानक 3 ता 4 अफ़राद आए और सफ़ी उद्दीन का मुबयना तौर पर अग़वा करते हुए अपने साथ ले गए।

रिश्तेदारों और दोस्त अहबाब ने सफ़ी के ताल्लुक़ से मुख़्तलिफ़ ज़राए और मुक़ामात पर दरयाफ़त किया लेकिन उन्हें कुछ हासिल ना हुआ। सफ़ी उद्दीन के साथीयों ने बताया कि सफ़ी को साथ लिए जाने के बाद दो अफ़राद इंस्टीटियूट आए जो तेलुगू ज़बान में बात कररहे थे। सेक्यूरिटी गारडज़ से बदसुलूकी की जो उन्हें इंस्टीटियूट में दाख़िल होने नहीं दे रहा था।

ये अफ़राद दीवार फलांग कर इंस्टीटियूट में दाख़िल होगए और सफ़ी उद्दीन का लयाप टाप तलब किया। ताहम साथी तलबा और इंस्ट्रक्टर ने उन्हें लयाप टाप हवाले करने से इनकार कर दिया और कहा कि पहले उन्हें शनाख़्त ज़ाहिर करें, जिस के बाद इन नामालूम अफ़राद ने सफ़ी से फ़ोन पर बात करवाई और सफ़ी उद्दीन ने उन्हें लयाप टाप हवाले करने का मुतालिबा किया। उस वक़्त सफ़ी बहुत ही ख़ौफ़ और सहमा हुआ था।

सफ़ी उद्दीन के साथीयों ने ये बात बताई। सयद सफ़ी उद्दीन के रिश्तेदार सयद अबदुलक़ादिर का कहना हीका कॉलेज से इंस्टीटियूट और घर सफ़ी का रोज़ाना मामूल था। उन्हें इस बात की हैरत हीके आख़िर किस ने सफ़ी उद्दीन के साथ ये हरकत की होगी। अपने भांजे की फ़िक्र में सयद अबदुलक़ादिर ने बंजारा हिलज़ पुलिस में दरख़ास्त की। ताहम पुलिस ने अग़वा के बजाय गुमशुदगी का मुक़द्दमा दर्ज करलिया और मसरूफ़ तहक़ीक़ात है। बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ सफ़ी उद्दीन का फ़ोन 2 ता 3 मर्तबा बजने के बाद आज बंद बताया गया और आला ज़राए के मुताबिक़ सफ़ी उद्दीन के सेल टावर का लोकेशन जुबली हिलज़ से पाया गया। सफ़ी उद्दीन को हिरासत में लेने या फिर गिरफ़्तारी की किसी पुलिस ज़राए ने तौसीक़ नहीं की।

इसी तरह दूसरे वाक़िये में सईदाबाद अमीन कॉलोनी के मुक़ीम तालिब-ए-इल्म अदनान को सादा लिबास में मलबूस अफ़राद ने आज उस वक़्त हिरासत में ले लिया जब वो अपने कॉलेज के लिए रवाना हुआ था। बावसूक़ ज़राए ने बताया कि अदनान अनवार उल-उलूम कॉलेज का तालिब-ए-इल्म है और वो आज पिरी फाईनल इमतिहान लिखने के लिए कॉलेज जा रहा था।

रात देर गए मौसूला इत्तिलाआत के बमूजब अदनान को साइबराबाद के स्पैशल ऑप्रेशन टीम (एस ओ टी) ने उन्हें हिरासत में लेकर अंबरपेट में वाक़्ये दफ़्तर में महरूस रख कर तफ़ीतश कररही है। अदनान को अचानक पुलिस की तरफ से हिरासत में लिए जाने पर उन के वालदैन में तशवीश की लहर दौड़ गई और वो अपने लड़के के लिए फ़िक्रमंद हैं।

इस सिलसिले में रब्त पैदा किए जाने पर पुलिस ने मज़कूरा नौजवानों की हिरासत में तौसीक़ नहीं दी। जिस से तरह तरह के शुबहात में इज़ाफ़ा होगया और इस बात के ख़दशात भी ज़ाहिर किए जा रहे हैं कि कहीं सफ़ी उद्दीन और अदनान को दहश्तगर्दी के वाक़ियात से जोड़ने की मुबय्ना कोशिश तो नहीं की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT