Tuesday , August 22 2017
Home / AP/Telangana / बच्चों को क़लम थमाएं,आटो नहीं:डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर

बच्चों को क़लम थमाएं,आटो नहीं:डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर

हैदराबाद 14 मार्च: डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर मुहम्मद महमूद अली ने अक़लियतों को मश्वरह दिया कि वो अपने बच्चों की तालीम पर ख़ुसूसी तवज्जा दें और उन्हें समाज में बाविक़ार ओहदों पर फ़ाइज़ करने की कोशिश करें। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर हज हाउज़ में ओन योर आटो स्कीम के तहत हैदराबाद और रंगारेड्डी के ग़रीब अक़लियती ख़ानदानों में आटो रक्षा की इजराई की तक़रीब से ख़िताब कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि केसीआर हुकूमत अक़लियतों की तालीमी और मआशी तरक़्क़ी में संजीदा है। उन्होंने कहा कि मुसलमानों की पसमांदगी दलितों से भी बढ़कर है और पिछ्ले 68 बरसों में ये सूरते हाल पैदा हुई है। मुस्लमान जो कभी हाकिम थे आज पसमांदा क़ौम बन चुके हैं। चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्र शेखर राव तेलंगाना में हर शख़्स के चेहरे पर मुस्कुराहट देखना चाहते हैं।

उन्होंने अक़लियतों की तालीमी तरक़्क़ी के लिए 120 अक़ामती स्कूलों के क़ियाम को मंज़ूरी दी और पहले मरहले में 70 अक़ामती स्कूलस आइन्दा तालीमी साल से शुरू होजाएंगे जिस पर 2000 करोड़ का ख़र्च आएगा। उन्होंने कहा कि हुकूमत 100 अक़लियती स्टूडेंट का इंतेख़ाब करते हुए उन्हें सिविल सर्विस की कोचिंग फ़राहम करेगी और तमाम अख़राजात हुकूमत बर्दाश्त करेगी। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर ने आटो रिक्शा हासिल करने वालों को मश्वरह् दिया कि वो अपने बच्चों को आटो चलाने के बजाये उन्हें ज़ेवर तालीम से आरास्ता करें।

उन्होंने कहा कि आपका बच्चा तालीम हासिल करते हुए आला ओहदों पर फ़ाइज़ होना चाहीए। उन्होंने आटो ड्राईवरस को मश्वरह दिया कि वो किफ़ायत-शिआरी के ज़रीये बचत करें और अपने बच्चों के तालीमी मुस्तक़बिल को बेहतर बनाएँ।

महमूद अली ने कहा कि तेलंगाना तशकील से पहले रुकन क़ानूनसाज़ कौंसिल की हैसियत से आटो रिक्शा स्कीम की उन्होंने तजवीज़ पेश की थी। तशकील तेलंगाना के बाद केसीआर हुकूमत ने सबसे पहले आटो का टैक्स माफ़ किया। 73 करोड़ रुपये के बक़ायाजात माफ़ किए गए और आटो टैक्स की माफ़ी से सरकारी ख़ज़ाने को सालाना 52 करोड़ रुपये का ख़सारा है लेकिन ग़रीब आटो ड्राईवरस की भलाई में केसीआर ने इस नुक़्सान को बर्दाश्त किया है।

रुकन क़ानूनसाज़ कौंसिल फ़ारूक़ हुसैन ने निज़ामबाद के मोरताड़ मंडल का हवाला दिया और कहा कि वहां 500 मुस्लिम ख़ानदान ताड़ी तासनदेहैं और वो इस पेशे से नजात हासिल करना चाहते हैं क्युं कि इस्लाम में नशे आवर शए का इस्तेमाल और फ़रोख़त दोनों हराम है। उन्होंने इन ख़ानदानों को कम से कम फी कस 2 लाख रुपये रास्त तौर पर क़र्ज़ की इजराई का मुतालिबा किया।

फ़ारूक़ हुसैन ने कहा कि वो इस सिलसिले में चीफ़ मिनिस्टर से नुमाइंदगी करेंगे और उन्हें यक़ीन है कि चीफ़ मिनिस्टर इस तजवीज़ को मंज़ूरी देंगे।

रुकन क़ानूनसाज़ कौंसिल मुहम्मद सलीम ने कहा कि हुकूमत ग़रीब दोस्त है और आने वाले दिनों में चीफ़ मिनिस्टर आटो रिक्शा शहर और अज़ला में मंज़ूर करेंगे। सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद सय्यद उम्र जलील ने भी मुख़ातिब किया जबकि मैनेजिंग डायरेक्टर कारपोरेशन बी शफ़ी उल्लाह ने इस्तेक़बाल किया। तक़रीब में सेक्रेटरी डायरेक्टर उर्दू एकेडेमी प्रोफ़ैसर एस ए शकूर, मेयर हैदराबाद राम मोहन, डिप्टी मेयर बाबा फ़सीहउद्दीन और दूसरों ने शिरकत की।

आटो स्कीम के तहत 1783 दरख़ास्त गुज़ारों में पहले मरहले के तहत 510 आटोज़ जारी किए गए जिनमें हैदराबाद के 367और रंगारेड्डी के 143 इस्तेफ़ादा कुनुन्दगान शामिल हैं। मज़ीद 490 दरख़ास्तों की यकसूई का काम जारी है जिन्हें दूसरे मरहले में जारी किए जाऐंगे। तीसरे मरहले के तहत 783 आटोज़ अप्रैल में जारी किए जाऐंगे। इस मौके पर नेशनल एकेडेमी आफ़ कंस्ट्रक्शन में तर्बीयत हासिल करने वाली ख़वातीन में 150 सेविंग मशीन और 74 ट्रेनिंग सर्टीफ़िकेटस जारी किए गए।

TOPPOPULARRECENT