Thursday , October 19 2017
Home / Bihar News / बजट में 22 फीसद अक़लियत हाशिये पर : सिद्दीकी

बजट में 22 फीसद अक़लियत हाशिये पर : सिद्दीकी

राजद एमएलए दल के लीडर अब्दुल बारी सिद्दीकी ने जुमेरात को एसेम्बली में कहा कि राजद ने रियासत में नीतीश हुकूमत का हिमायत सेकुलरिज़्म की हिफाजत के लिए किया है। एवान में 2015-16 के इन्कम और खर्च पर हुए तनाजे पर बहस में उन्होंने कहा कि इस बार

राजद एमएलए दल के लीडर अब्दुल बारी सिद्दीकी ने जुमेरात को एसेम्बली में कहा कि राजद ने रियासत में नीतीश हुकूमत का हिमायत सेकुलरिज़्म की हिफाजत के लिए किया है। एवान में 2015-16 के इन्कम और खर्च पर हुए तनाजे पर बहस में उन्होंने कहा कि इस बार के बजट में तालीम, तूअनाई, देही काम, देही तरक़्क़ी, पंचायत, सड़क तामीर वगैरह पर ज़्यादा जोर तो दिया गया है, पर 22 फीसद आबादीवाले आकलियतों को हाशिये पर डाल दिया गया है। अक़लियत के लिए बजट में महज 286. 30 करोड़ की तजवीज किया गया है।

यह ‘ऊंट के मुंह में जीरा का फोरन’ के समान है। उन्होंने पूछा कि मरकज़ी हुकूमत से अकलियतों के लिए मिली रकम की क्या हालत है, बताये। अक़लियत स्कूल, कॉलेज और मदरसों में हॉस्टल नहीं है, लेकिन संस्कृत हाइ स्कूलों में चकाचक हॉस्टल बन रहें। उन्होंने हुकूमत से पूछा कि क्या अक़लियत हॉस्टल की तामीर को ले कर कोई गाइड-लाइन बनी है?

आकलियतों के लिए बने वजीरे आजम 15 नुकाती प्रोग्राम और एमएसडीपी मंसूबा का क्या हुआ? अक़लियत मंसूबों के काम के लिए जिलों में कमिटी बनी क्या?

TOPPOPULARRECENT