Thursday , September 21 2017
Home / India / बठिंडा : सेना के हथियार डिपो में लगी आग, जांच के आदेश जारी

बठिंडा : सेना के हथियार डिपो में लगी आग, जांच के आदेश जारी

 भटिंडा: पंजाब के बठिंडा में सेना के हथियार डिपो में आज सुबह 5 बजे आग लगने की खबर है यहीं से अलग अलग आर्मी यूनिट मे गोला बारूद जाता है. करीब 6.35 मिनट पर उस पर काबू पाया गया. आग की वजहों का अभी पता नहीं चल पाया है हालांकि आग पर काबू पा लिया गया है. मेडिकल टीम भी आग वाली जगह पर पहुंच चुकी है. किसी के हताहत होने की खबर नहीं है, हालांकि  105 एमएम और 155 गन के गोलाबारूद को नुकसान पहुंचा है. पूरे नुकसान का पता कुछ समय बाद जांच परख के बाद ही चल सकेगा. मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. 

31 अगस्त को ही कामकाज में ढिलाई और खराब प्रदर्शन के मद्देनजर इंडियन आर्डिनेंस फैक्ट्री सर्विसेज के 13 अधिकारियों पर गाज गिरी थी. रक्षा मंत्रालय ने परफॉरमेंस स्क्रीनिंग के बाद 13 अधिकारियों  की ग्रुप-ए अधिकारियों की सेवाएं खत्म की थी. अगस्त महीने मे सीएजी (नियंत्रक महालेखा परीक्षक) की रिपोर्ट में गोला-बारूद की कमी और गुणवत्ता पर उठाए गए थे. बीते साल सेंट्रल एम्युनिशन डिपो, पुलवामा में भयावह आग लगी थी. इसमें दो सेना अधिकारियों समेत एक दर्जन से ज़्यादा लोगों की जान गई थी.

गौरतलब है की इससे पहले भी पिछले साल जून में महाराष्ट्र के पुलगांव में स्थित भारतीय सेना के सबसे बड़े हथियार डिपो में आग लगी थी। इस हादसे में दो अधिकारियों सहित 16 लोगों की मौत हो गई। जिनमें तीन सैनिक व अग्निशमन ब्रिगेड स्टाफ के 13 कर्मचारी शामिल थे ।

पहले भी हुए हैं हादसे

2000 में भरतपुर में स्थित सेना के आयुध डिपो में आग से 376 करोड़ का गोला-बारूद नष्ट हुआ था ।

2001 में श्रीगंगानगर स्थित आयुध डिपो में 24 मई को आग लगी। 3 सैन्य अधिकारी जख्मी हुए थे ।

2007 में अनंतनाग स्थित डिपो में आग से एक नागरिक समेत 3 सैन्यकर्मियों की मौत, 40 घायल हुए थे ।

2010 में पश्चिम बंगाल के बर्धमान में स्थित डिपो में आग लगी थी ।

2015 में विशाखापत्तनम में नौसैनिक के आयुध डिपो में आग से पांच लोग जख्मी हुए थे।

 

TOPPOPULARRECENT