Thursday , August 17 2017
Home / Delhi / Mumbai / बड़े नोट बंद होने से नेताओं के होश उड़ गए

बड़े नोट बंद होने से नेताओं के होश उड़ गए

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बड़े नोट बंद करने के अचानक फैसले से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी में व्यस्त नेताओं के होश उड़ गए है| विधानसभा चुनाव चार महीने में होने हैं, और उसकी तैयारी में संभावित उम्मीदवारों के साथ ही राजनीतिक पार्टियां पूरी ताकत के साथ लगी हुई हैं। ऐसे में पांच सौ और एक हजार के नोट अचानक बंद कर दिए जाने से चुनाव की तैयारी में लगे नेताओं के होश उड़ गए|

लखनउ के लोहिया पार्क में सुबह टहलने वाले एक नेता ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा, “प्रधानमंत्री यह निर्णय अव्यवहारिक है। नोटों के चलन को बंद करने से पहले एक ‘अलार्म’ देना चाहिए था। नोट बंद करने की तारीख की घोषणा होने पर लोग अपनी जरूरत का सामान तो खरीद लेते। “उनका कहना था,” मेरे निर्वाचन क्षेत्र कई शादियां हैं, ऐसे में इस फैसले से शादियों के प्रावधान प्रभावित हो रहे हैं। सब्जी का प्रबंधन कैसे हो। शादी के लिए अन्य जरूरी सामान कैसे खरीदे जाएंगे। “उन्होंने कहा,” एक दिन बाद दो हजार और कुछ दिन बाद चार हजार रुपये मात्र निकालने से कैसे काम चलेगा। यह फैसला मोदी के तानाशाही रवैये को दर्शाता है। “

TOPPOPULARRECENT