Thursday , August 17 2017
Home / Ahmedabad / “बड़े मजे की बात है, दलित मुस्लिम साथ है”

“बड़े मजे की बात है, दलित मुस्लिम साथ है”

पुणे : 17 वें स्वतंत्रता दिवस पर मुस्लिम समुदाय के सदस्यों बड़ी संख्या में दलित समुदाय अभियान का समर्थन करने के लिए पहुंचे। अपने मुस्लिम भाइयों को देखकर दलितों को आराम दिया क्योंकि वे मुसलमानों की तरह ही दर्द को सहन कर रहे हैं। यही कारण है कि उन्होंने नारा लगाया ” बड़े मजे की बात है, दलित मुस्लिम साथ है ” और ” दलित मुस्लिम भाई-भाई ” इन नारों की गूंज से दलित जुलूस के दौरान पूरे शहर की सड़कें गूंज रही थीं।

एक व्यक्ति मूसा भाई ने कहा कि वह मुसलमान को मृत गाय के नाम पर मारते और दलितों को जिंदा आदमी के नाम पर मारते हैं। मस्जिद से हजारों मुसल्ली निकलकर जुलूस में शामिल हो गए थे। पुणे में सोमवार को निकाले हुए जुलूस में दलितों के साथ नारे लगा रहे थे ” एक धक्का और दो, जाती वाद की हथकड़ी तोड़ दो ”। शोधकर्ता रोहित वीमला मां राधीका वीमोला ने अपने भाषण में कहा कि उन्हें अपने बेटे के लिए न्याय नहीं मिला।

यह सिर्फ दलित होने के कारण आत्महत्या करनी पड़ी। वह इसलिए नहीं चाहतीं कि कोई और दलित उनके बेटे की तरह मुसीबतों का शिकार हो। जुलूस का नेतृत्व करने वाले स्थनीश मीवानी ने कहा कि मोदी जी समय से गाय की पूंछ पकड़ कर खेल रहे थे, अब दम फंदा लगने लगी है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

TOPPOPULARRECENT