Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / बराक ओबामा से उनकी दादी ने की इस्लाम कुबूल करने की अपील

बराक ओबामा से उनकी दादी ने की इस्लाम कुबूल करने की अपील

मक्का: अमेरिकी सदर बराक ओबामा की दादी सारा उमर ने अपने पोते ओबामा से इस्लाम कुबूल करने की अपील की है। सारा उमर हाल ही में उमरा करने गई थीं। गौरतलब है कि बराक ओबामा सदर बनने के बाद से मुसलमान होने का कई बार तरदीद कर चुके हैं, लेकिन अब उ

मक्का: अमेरिकी सदर बराक ओबामा की दादी सारा उमर ने अपने पोते ओबामा से इस्लाम कुबूल करने की अपील की है। सारा उमर हाल ही में उमरा करने गई थीं। गौरतलब है कि बराक ओबामा सदर बनने के बाद से मुसलमान होने का कई बार तरदीद कर चुके हैं, लेकिन अब उनकी दादी की तरफ से उनसे इस्लाम कुबूल करने की गुजारिश या अपील से ओबामा के मुसलमान होने की अफवाह को एक बार फिर ताकत मिली है।

रशिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक 90 साल की सारा उमर ओबामा के बाबा ओनयांगू हुसैन ओबामा की तीसरी बीवी हैं और कीनियाई शहरी हैं। वह अपने बेटे सईद ओबामा (बराक ओबामा के चचा) और पोते मूसा ओबामा के साथ मक्का गई थीं।

बाद में सऊदी अरब से शाय अखबार अलवतन से बातचीत में उन्होंने कहा कि अपने पोते के इस्लाम कुबूल करने के लिए उन्होंने नमाज पढ़ी। अमेरिकी सदर बराक ओबामा के वालिद बराक हुसैन ओबामा सीनियर कीनियाई मुसलमान थे जबकि उनकी वालिदा एन डनहम अमेरिकी थीं।

हालांकि ओबामा कई मौकों पर खुद के ईसाई होने का दावा कर चुके हैं, लेकिन अभी भी अमेरिकियों के बीच उनके मज़हब को लेकर शक बरकरार है। पिछले साल अगस्त में हुए एक सर्वे में 18 फीसद अमेरीकियों ने ओबामा को मुसलमान और 34 फीसद ने उन्हें ईसाई बताया था।

अल अरेबिया न्यूज के मुताबिक उमरा के बाद सारा ओबामा पैगम्बर मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम से मुतालिक एक नुमाइश में भी गई थीं। उन्होंने कहा- यह नुमाइश साइंसी और मुसतनद दस्तावेजों के जरिये जदीद् तरीकों से इस्लाम की तश्हीर का एक अच्छा मिसाल है।

सारा उमर ने उम्मीद जताई कि इस नुमाइश को दूसरे मुल्को में भी ले जाया जाएगा ताकि इस्लाम को लेकर फैली गलतफहमियों को दूर किया जा सके।

सारा ने 2009 में बराक के भाई ओबोंगो ‘रॉय’ ओबामा के साथ वाशिंगटन डीसी का दौरा भी किया था। ओबामा के छोटे भाई सैमसन को ब्रिटेन हुकूमत ने एक बार मुल्क में दाखिल होने की इजाजत देने से इनकार कर दिया था क्योंकि उन पर एक लड़की पर जिंसी हमले का इल्ज़ाम था।

TOPPOPULARRECENT