Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा से दसतबरदारी पर ज़ोर : तेलगु देशम

बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा से दसतबरदारी पर ज़ोर : तेलगु देशम

हैदराबाद । ०४ अप्रैल : ( सियासत न्यूज़ ) : तेलगु देशम ने बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा की मुख़ालिफ़त की और इज़ाफ़ा बर्क़ी शरहों से दसतबरदारी इख़तियार करने का हुकूमत से मुतालिबा किया । बसूरत-ए-दीगर बड़े पैमाने पर रियासत गीर पैमाने पर एहत

हैदराबाद । ०४ अप्रैल : ( सियासत न्यूज़ ) : तेलगु देशम ने बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा की मुख़ालिफ़त की और इज़ाफ़ा बर्क़ी शरहों से दसतबरदारी इख़तियार करने का हुकूमत से मुतालिबा किया । बसूरत-ए-दीगर बड़े पैमाने पर रियासत गीर पैमाने पर एहतिजाज मुनज़्ज़म करने का इंतिबाह देते हुए कहाकि इज़ाफ़ा के ख़िलाफ़ इबतिदाई मरहला के तौर पर हलक़ा असैंबली राजिंदर नगर के मुक़ाम गगन पहाड़ बर्क़ी सब स्टेशन के रूबरू एहतिजाज मुनज़्ज़म किया जाएगा । एहतिजाज में सदर तलगो देशम-ओ-क़ाइद अप्पोज़ीशन चंद्रा बाबू नायडू हिस्सा लेंगे ।

सहाफ़ीयों से बातचीत करते हुए मिस्टर आर चन्द्र शेखर रेड्डी रुकन असम्बली-ओ-तर्जुमान ने बताया कि साल 2004 के दौरान कांग्रेस के बरसर-ए-इक्तदार आने के बाद से अब तक 3 ता 4 मर्तबा बर्क़ी शरहों मैं रास्त या बिलवासता असाफ़ा किया गया लेकिन हुकूमत का ये इद्दिआ कि कांग्रेस हुकूमत ने बर्क़ी शरहों में गुज़शता कई साल के दौरान इज़ाफ़ा नहीं किया है मज़हका ख़ेज़ है । उन्हों ने हुकूमत पर बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा कर के ग़रीब अवाम पर माली बोझ आइद करने का इल्ज़ाम आइद किया और कहा कि इन इज़ाफ़ा शूदा बर्क़ी शरहों से दसतबरदारी तक तेलगु देशम ख़ामोशी इख़तियार नहीं करेगी ।

मिस्टर रेड्डी ने हुकूमत पर गुज़शता 8 साल के दौरान बर्क़ी पैदावारी शोबा को बिलकुल्लिया तौर पर नज़रअंदाज करदेने का इल्ज़ाम आइद किया और कहा कि कांग्रेस दौर में बर्क़ी पैदावार रियासत में बराए नाम हो कर रह गई । हुकूमत अपनी कारकर्दगी का इज़हार करने के बजाय पर हमेशा साबिक़ तेलगु देशम हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बनाने के तरीका-ए-कार पर अमल पैरा है । उन्हों ने हुकूमत से बर्क़ी पैदावार से मुताल्लिक़ अपने 8 साला दौर-ए-इक्तदार में किए गए इक़दामात से मुताल्लिक़ मुकम्मल तफ़सीलात पर मबनी वाईट पेपर जारी करने का मुतालिबा किया और कहा कि दरहक़ीक़त मर्कज़ी हुकूमत-ओ-रियास्ती हुकूमत अवाम पर माली बोझ आइद करने एक दूसरे पर सबक़त ले जा रही है ।

उन्हों ने कहा कि तलगो देशम हुकूमत में बर्क़ी इस्लाहात को रूबा अमल लाया गया और उन की रोशनी में ही बर्क़ी पैदावार-ओ-सरबराही के निज़ाम को बाक़ायदा बनाया गया । यहां तक कि तेलगु देशम हुकूमत में मूसिर इक़दामात से बर्क़ी सूरत-ए-हाल को बेहतर बनाकर 5 हज़ार मैगावाट बर्क़ी पैदावार में इज़ाफ़ा किया गया था ।

TOPPOPULARRECENT