Tuesday , October 24 2017
Home / Hyderabad News / बर्ड फ्लू जरासीम का मुक़ाबला करने से इंसानी क़ुव्वत क़ासिर

बर्ड फ्लू जरासीम का मुक़ाबला करने से इंसानी क़ुव्वत क़ासिर

बर्ड फ्लू के जरासीम का दिफ़ा करने की क़ुव्वत इंसानी दिफ़ाई निज़ाम में मौजूद नहीं है। HSN1 वाइरस इंतेहाई मोहलिक है और ये सिर्फ़ मुतास्सिरा चिकन के इस्तेमाल से ही नहीं होता बल्कि मुतास्सिरा चिकन के अतराफ़-ओ-अकनाफ़ भी बज़रीये हवा ये वबा-ए-

बर्ड फ्लू के जरासीम का दिफ़ा करने की क़ुव्वत इंसानी दिफ़ाई निज़ाम में मौजूद नहीं है। HSN1 वाइरस इंतेहाई मोहलिक है और ये सिर्फ़ मुतास्सिरा चिकन के इस्तेमाल से ही नहीं होता बल्कि मुतास्सिरा चिकन के अतराफ़-ओ-अकनाफ़ भी बज़रीये हवा ये वबा-ए-फैलती है।

आलमी इदारा-ए-सेहत के मुताबिक़ ये वबा-ए-सिर्फ़ चिकन से फैलती है और इस वबा-ए-से बचने का वाहिद रास्ता मुर्ग़ का इस्तेमाल तर्क करना है और मुतास्सिरा मुर्ग़ के क़रीब जाने से भी गुरेज़ करना है। हैदराबाद के नवाही इलाके हयातनगर में तक़रीबन 2 लाख मुर्ग़ीयों-ओ-अंडों को तलफ़ करने की सूरत-ए-हाल के बाद चिकन के मार्किट में कुछ गिरावट आई है।

बर्ड फ्लू की इबतिदाई अलामात में सिरदर्द ,आशोबा-ए-चश्म , खांसी , गले में ख़राश , तेज़ बुख़ार और आज़ा शिकनी शामिल है। इस मोहलिक वाइरस से मुतास्सिरा अफ़राद का बरवक़्त ईलाज इंतेहाई ज़रूरी है और ये एक वबाई मर्ज़ है जो एक दूसरे को फैलता रहता है।

हुकूमत तेलंगाना ने शहर के नवाही इलाक़ों में 5 मुसबित नमूनों के दस्तयाब होते ही जो एहतियाती तदाबीर इख़तियार करते हुए दो लाख मुर्ग़ीयों को तलफ़ करने का फ़ैसला किया है वो वक़्त की अहम ज़रूरत था।

TOPPOPULARRECENT