Friday , October 20 2017
Home / World / बर्तानवी सफ़ीर की शामी हुकूमत के ख़ातमे की पेशगोई

बर्तानवी सफ़ीर की शामी हुकूमत के ख़ातमे की पेशगोई

दमिशक़ में बर्तानवी सफ़ीर ने गुज़श्ता रोज़ शाय होने वाले एक इंटरव्यू में पैशन गोई की है कि शाम की हुकूमत जारीया साल के इख़तेताम तक ख़तम हो जाएगी। साइमन को लैस ने टाईम्स अख़बार को बताया कि शाम एक डैम की तरह है जिस में शिगाफ़ हो, यहा

दमिशक़ में बर्तानवी सफ़ीर ने गुज़श्ता रोज़ शाय होने वाले एक इंटरव्यू में पैशन गोई की है कि शाम की हुकूमत जारीया साल के इख़तेताम तक ख़तम हो जाएगी। साइमन को लैस ने टाईम्स अख़बार को बताया कि शाम एक डैम की तरह है जिस में शिगाफ़ हो, यहां पर दबाव में इज़ाफ़ा हो रहा है और एक मुम्किना मंज़रनामा यही है कि जब ये टूटेगा तो ऐसा बहुत ही तेज़ी से होगा।

कोलैस का कहना था कि मैं ज़ाती तौर पर ये नहीं समझता कि ये इस साल के इख़तेताम तक बरक़रार रहेगा। बल्कि इस से बहुत कब्ल इस का ख़ातमा हो जाएगा। उन्हों ने मज़ीद कहा कि मेरे ख़्याल में शामी फ़ौज बहुत ज़्यादा फैल चुकी है और मुल़्क की मईशत टूट फूट का शिकार हो रही है। बर्तानिया ने अपने सिफ़ारती अमले को गुज़शता हफ़्ते शाम से बाहर निकाल लिया था और ऐसा उन की हिफ़ाज़त के लिए लाहक़ ख़तरात की बिना पर किया गया था।

कोलैस ने कहा कि ये मुम्किन है कि बाअज़ वाक़ियात तेज़ रफ़्तारी से हुकूमत के ख़ातमे का सबब बन जाएं उन्हों ने अंदाज़ा लगाया कि शामी अवाम का पांचवां हिस्सा ही मौजूदा हुकूमत की हिमायत करता है। को लैस ने होमस में तशद्दुद को छोटे असटालन ग्राड से तशबीया दी । असटालिन ग्राड का हवाला दूसरी जंग-ए-अज़ीम के सोवीयत शहर की जानिब था जहां पर हज़ारों लोग मारे गए थे।

TOPPOPULARRECENT