Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / बर्क़ी खमबों पर स्टार कुनैक्शन ओर नेट कनैक्शन के तारों का बोझ

बर्क़ी खमबों पर स्टार कुनैक्शन ओर नेट कनैक्शन के तारों का बोझ

हैदराबाद । 4 । अक्टूबर ( सियासत न्यूज़ ) अंबर पेट अना पूर्णा नगर में चंद यौम क़बल 11साला रॉबिन पाल अपने मकान के क़रीब लोहे के बारीक तार को हाथ से घुमाते हुए खेल रहा था कि अचानक ये लोहे का तार बर्क़ी तार से टकरा गया जिस के सबब उसकी मौत होगई

हैदराबाद । 4 । अक्टूबर ( सियासत न्यूज़ ) अंबर पेट अना पूर्णा नगर में चंद यौम क़बल 11साला रॉबिन पाल अपने मकान के क़रीब लोहे के बारीक तार को हाथ से घुमाते हुए खेल रहा था कि अचानक ये लोहे का तार बर्क़ी तार से टकरा गया जिस के सबब उसकी मौत होगई ।ठीक एक दिन पहले इलाक़ा डुंडि गल में एक मज़दूर काम करते हुए लटके हुए बर्क़ी तार की ज़द में आकर हलाक होगया…ये और इस तरह के कई एक हादिसात रोज़मर्रा के मामूल बन चुके हैं ।हुकूमत इन हालात से निमटने और शहर को ख़ूबसूरत बनाने के मक़सद से साल 2005 में ज़ेर-ए-ज़मीन बर्क़ी मंसूबे पर अमल करने का आग़ाज़ किया था मगर ज़ेर-ए-ज़मीन बर्क़ी कुनैक्शन के मंसूबे पर अमल आवरी भी दीगर सरकारी कामों की तरह कछुवे की चाल का शिकार हो गया , बरसों पहले शुरू होने वाला ये मंसूबा कब पाए तकमील को पहुंचेगा ये तो ए पी सैंटर्ल पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के ओहदार ही जानें मगर शहर में ख़ास कर पुराने शहर की ग़नजान आबादी में मौजूद बर्क़ी खंबे हमेशा की तरह आज भी ख़तरे का सबब बने हुए हैं। जहां एक एक बर्क़ी खंबों पुर्से बीस तीस कुनैक्शन दीदए गए हैं जिसके नतीजे में कई एक मुक़ामात पर बर्क़ी तार , रास्तों,गलीयों और सड़कों पर काफ़ी नीचे झूलते नज़र आते हैं , ओरया लटके हुए बर्क़ी तार खेलने कूदने वाले बच्चे ख़ास कर पतंग उड़ाने वाले बच्चों केलिए भी ख़तरे का सबब बना हवाही,ख़ुसूसन बरसात के मौसम में ये काफ़ी ख़तरनाक साबित होरहा है। बरसों से मौजूद इन बर्क़ी खंबों पर लटकने वाले ये बर्क़ी तार उस वक़्त मज़ीद परेशानी का सबब बन गया जब उन्ही खंबों के ज़रीया स्टार कुनैक्शन ,और इंटरनैट कुनैक्शन भी दिए जाने लगे और इस तरह स्टार कुनैक्शन ,इंटरनैट कुनैक्शन के तार बर्क़ी तारों में ख़लत-मलत होकर मज़ीद उलझन का बाइस बना हुआ है जिसके ख़िलाफ़ किसी किस्म की कार्रवाई भी नहीं की जाती।हालाँकि बर्क़ी खंबों पर चढ़ कर स्टार या नैट कुनैक्शन देने का अमल ख़ुद मुताल्लिक़ा अमला केलिए ख़तरे का बाइस है मगरबसा औक़ात मज़कूरा अमले की ग़ैरमौजूदगी या शिकायत के बाद भी स्टार या नैट कुनैक्शन का अमला ना आने की सूरत में कई एक नौजवान ख़ुद ही टेक्निशियनबनने की कोशिश करते हैं जिस से जान लेवा हादिसात पेश आने के ख़दशात हैं। मुक़ामी ज़राए के मुताबिक़ पुराने शहर के इलाक़े ख़सूसन हसन नगर,महमूद नगर नाले के पास , नवाब साहिब कनटा ,अंसारी रोड ,मुस्तफ़ा नगर ,फ़ातिमा नगर फ़ारूक़ नगरमीन रोड के पास ,हाफ़िज़ बाबा नगर बड़े ट्रांसफ़ारमर के क़रीब, अंदरून चंदरायन गट्टा ,ग़ाज़ी मिल्लत कॉलोनी , वटे पली ,चशमा ,इंजन बाओली फ़रह हॉस्पिटल के क़रीब ,अमजद विला बाग़ नाले की गली में,बिलाल नगरमीन रोड,बहादुर पूरा जाने वाली रोड पर , दूध बाओली ,जामिआ निज़ामीया के क़रीब ,हुसैनी इलम ,पुराना पुल के इलाक़ों और आसिफ़ नगर झुर्रा की तरफ़ जाने वाली सड़कों पर मौजू बर्क़ी खंबे बिजली के तारों ,स्टार कुनैक्शन ,और इंटरनैट कुनैक्शन के तारों से भर दिया गया है और उन बेशुमार तारों के बोझ से बर्क़ी वायर जाबजा लटक रहे हैं जूना सिर्फ़ आम लोगों बल्कि राहगीरों केलिए भी ख़तरे का सबब बन सकते हैं । मज़कूरा इलाक़ों के अवाम ने हुकूमत से मुतालिबा किया है कि वो ज़ेर-ए-ज़मीन बर्क़ी कुनैक्शन प्राजैक्ट को जल्दसे जल्द पाए तकमील तक पहुंचाए।

TOPPOPULARRECENT