Friday , October 20 2017
Home / District News / बर्क़ी बेक़ाइदगी के ख़िलाफ़ आदिलाबाद में ज़बरदस्त एहतिजाज

बर्क़ी बेक़ाइदगी के ख़िलाफ़ आदिलाबाद में ज़बरदस्त एहतिजाज

पुलिस के माक़ूल बंद-ओ-बस्त के बावजूद अफ़रातफ़री का माहौल , माज़ुरीन का भी धरना

पुलिस के माक़ूल बंद-ओ-बस्त के बावजूद अफ़रातफ़री का माहौल , माज़ुरीन का भी धरना
आदिलाबाद,9 जनवरी: ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) मुस्तक़र आदिलाबाद में आज चारों तरफ़ अफ़रातफ़री का माहौल महसूस किया गया। पुलिस के माक़ूल बंद-ओ-बस्त के बावजूद दफ़्तर ज़िला कलक्ट्रेट के रूबरू जहां एक तरफ़ तीन मुख़्तलिफ़ मुतालिबात के तहत धरना मुनज़्ज़म किए गए वहीं दूसरी तरफ़ एक बड़े पैमाने पर कॉटन तिजारत पेशा अफ़राद की जानिब से निकाली जाने वाली रियाली को आर डी ओ के समझाने पर मुल्तवी करदिया गया।

जबकि बर्क़ी कटौती पर क़ाबू पाने का मुतालिबा करते हुए मजलिस बचाव‌ तहरीक की जानिब से मरण बरत का आग़ाज़ किया गया और सहाफ़ती बिरादरी की जानिब से एक रियाली निकालते हुए जवाइंट कलैक्टर मुहतरमा सुजाता शर्मा को एक याददाश्त पेश की गई। तफ़सीलात के मुताबिक़ बर्क़ी कटौती पर क़ाबू पाने का मुतालिबा करते हुए चैंबर आफ़ कॉमर्स के तहत कॉटन तिजारत पेशा अफ़राद कॉटन खरीदी को मंसूख़ करते हुए जीनिंग फ़ै एक्टरयों में ख़िदमात अंजाम देने वाले हज़ारों अफ़राद को शहर के क़लब में वाक़्य अंबेडकर चौक के मारवाड़ी धर्मशाला मैदान में जमा करते हुए बड़े पैमाने पर रियाली के ज़रीया महिकमा बर्क़ी दफ़्तर एस‌ ई के रूबरू धरना मुनज़्ज़म करने की कोशिश में थे।

जिस के पेश नज़र पुलिस उहदेदारान और आर डी ओ रवी नायक मारवाड़ी धर्मशाला पहुंचकर सनअत कारों को एहतिजाज मुनज़्ज़म करने पर क़ाबू करलिया। कॉटन ट्रेडर्स की जानिब से सनअती मार्किट बंद रखने की बिना पर किसानों को सख़्त दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। हसबेमामूल किसानों की जानिब से अपनी कपास बेचने करने की ग़रज़ कॉटन मार्किट लाई जाती है। कॉटन मार्किट में कॉटन खरीदी का नज़म बंद होने के बिना पर कॉटन कारपोरेशन आफ़ इंडिया ICCI की जानिब से भी कॉटन खरीदी को मुल्तवी रखा गया जिस कि बिना पर किसानों की जानिब से कॉटन मार्किट अहाता से किसानों ने धरना मुनज़्ज़म करने की ख़ातिर एक रियाली निकाली जो मुस्तक़र के पंजाब चौक पहूंचने पर पुलिस ने उन्हें नाकाम बनादिया।

ख़ातिरख़वाह पुलिस जमइय्यत‌ को महसूस करते हुए ज़राअत पेशा अफ़राद पोलीस उहदेदारान की हिदायत के पेशे नज़र अपने एहतिजाज को मंसूख़ करदिया। मजलिसी रुकन एसेम्बली अकबरुद्दीन ओवैसी की निर्मल पोलीस इस्टेशन में इमकानी हाज़िरी के पेशे नज़र पोलीस तल्लाया गर्दी में इज़ाफ़ा भी किया गया।

हस्सास मुक़ामात-ओ-मसाजिद के रूबरू भी पुलिस तैनात की गई। बावजूद इस के बर्क़ी शरह में इज़ाफे की मुख़ालिफ़त करते हुए टी आर उस की जानिब से दफ़्तर ज़िला कलक्ट्रेट के धरना मुनज़्ज़म किया गया। इस मौक़े पर मुक़ामी रुकन एसेम्बली जोगू रामना ने ख़िताब में कांग्रेस हुकूमत पर सख़्त तन्क़ीद करते हुए कहा कि कांग्रेस हुकूमत से वाबस्ता क़ाइदीन अपने ज़ाती मुफ़ाद को मल्हूज़ रखते हुए रियासती अवाम पर दिन बह दिन बोझ आइद कर रहे हैं।

उन्होंने बर्क़ी शरह कम करने का मुतालिबा किया। बसूरत दीगर एहतिजाज में शिद्दत पैदा करने का भी इंतिबाह दिया। टी आर एस क़ाइदीन में लो का भूमा रेड्डी , भारत वॉग मारे और सय्यद साजिद अलुद्दीन के अलावा मर्द-ओ-ख़वातीन की कसीर तादाद मौजूद थी। दफ़्तर ज़िला कलक्ट्रेट के रूबरू ग्राम पंचायत से ताल्लुक़ रखने वाले मर्द-ओ-ख़वातीन रिहायशी अराज़ी फ़राहम करने का मुतालिबा करते हुए जहां एक तरफ़ धरना मुनज़्ज़म किया वहीं दूसरी तरफ़ जिस्मानी माज़ुरीन हुकूमत की जानिब से मिलने वाली इमदाद को नाकाफ़ी तसव्वुर करते हुए माहाना 1500 रुपय अदा करने का मुतालिबा करते हुए धरना मुनज़्ज़म किया।

जबकि बर्क़ी कटौती पर क़ाबू पाने का मुतालिबा करते हुए मुक़ामी मजलिस बचाव‌ तहरीक की जानिब से दफ़्तर महिकमा बर्क़ी के रूबरू फ़य्याज़ अहमद शमाअ और पवन केडिया ने मरण बरत का एहतिमाम किए हुए हैं। इन का तआवुन करने वालों में मुहम्मद शफ़ी , मुहम्मद अफ़्सर , अकबर अली , शेख एजाज़ , मुर्तज़ा ख़ान , अनील कुमार , सलीम पाशाह भी शामिल हैं।

दरें असना सहाफ़ती बिरादरी की जानिब से एक एहितजाजी रियाली निकाली गई जो मुस्तक़र के प्रेस कलब से निकल कर दफ़्तर ज़िला कलक्ट्रेट पहु‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍चकर जौइंट कलैक्टर मुहतरमा सुजाता शर्मा को एक याददाश्त पेश किया। जिस में ज़िला अनंत पर के रोज़नामा शाक्षी नुमाइंदा राम गोपाल रेड्डी और कैमरा मैन के साथ की गई बदसुलूकी पर जैसी प्रभाकर रेड्डी के ख़िलाफ़ सख़्त क़ानूनी कार्रवाई करने का मुतालिबा किया गया।

इस एहतिजाजी रियाली में इलकटरानिक और प्रिंट मीडिया से ताल्लुक़ रखने वाले अंग्रेज़ी, तेलगो , मराठी और उर्दू के नुमाइनद भी शामिल थे।

TOPPOPULARRECENT