Sunday , October 22 2017
Home / Uttar Pradesh / बाइतुल खुला पर खर्च करने होंगे एमएलए फ़ंड के 50 लाख रुपये : वजीरे आला

बाइतुल खुला पर खर्च करने होंगे एमएलए फ़ंड के 50 लाख रुपये : वजीरे आला

वजीरे आला रघुवर दास ने कहा है कि रियासत के हर एमएलए को अपनी फ़ंड से हर साल 50 लाख रुपये बाइतुल खुला की तामीर पर खर्च करने होंगे। इस सिलसिले में जल्द ही दस्तूरुल अमल में तरमीम किया जाएगा।

वजीरे आला रघुवर दास ने कहा है कि रियासत के हर एमएलए को अपनी फ़ंड से हर साल 50 लाख रुपये बाइतुल खुला की तामीर पर खर्च करने होंगे। इस सिलसिले में जल्द ही दस्तूरुल अमल में तरमीम किया जाएगा।

वजीरे आल इतवार को तेली (साहू) समाज की तरफ से सिदगोड़ा टाउन हॉल अहाते में मुनक्कीद राजिम महोत्सव को खिताब कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हुकूमत बाइतुल खुला तामीर पर हर परिवार को बारह हजार रुपये देती है। साल 2019 तक पूरे झारखंड में तकरीबन तीन लाख बाइतुल खुला तामीर का टार्गेट रखा गया है। हर एमएलए को फी साल तीन करोड़ रुपये एमएलए फ़ंड के तौर में मिलते हैं।

रघुवर ने कहा कि साफ सुथरी भारत बनाने के लिए जरूरी है कि पहले साफ सुथरी झारखंड बने। वजीरे आजम नरेंद्र मोदी का ख्वाब है कि जब 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाई जाए तब तक पूरे भारत साफ सुथरी हो जाए। उन्होंने आम अवाम से दरख्वास्त की के मुल्क को साफ सुथरी बनने के लिए झारखंड और झारखंड को साफ सुथरा बनाने के लिए जमशेदपुर को साफ सुथरा बनाएं। यह तमाम के कोशिशों से ही मुमकिन हो सकेगा।

रघुवर दास ने कहा कि तंजीम में ताक़त होती है। किसी भी सामाजिक तंजीम की तशकील समाज को पॉज़िटिव सिम्त देने के लिए किया जाता है। उन्होंने समाज के लोगों से दरख्वास्त की के वे सामाजिक बुराइयों के खिलाफ जद्दो-जहद करें और समाज को नई सिम्त दें। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुहिम को आगे बढ़ाएं। तमाम का सामाजिक ज्वाबदेही बनता है कि वे समाज के लिए कुछ करें। समाज और अफराद दोनों एक-दूसरे के ओपोजिट होते हैं।

TOPPOPULARRECENT