Friday , October 20 2017
Home / World / बात चीत के अहया (दोबार शरुवात)की ज़िम्मेदारी अब पाकिस्तान पर

बात चीत के अहया (दोबार शरुवात)की ज़िम्मेदारी अब पाकिस्तान पर

अमरीका ने पाकिस्तान से अपनी मुज़ाकरात(बात चीत) की टीम वापस तलब करली है । ओबामा नज़म-ओ-नसक़ ने कहा कि ये अब पाकिस्तान की ज़िम्मेदारी है कि मुज़ाकरात(बात चीत) का अहया (दोबार शरुवात)करे ताकि अफ़्ग़ानिस्तान को रसद (सामान) की राहदारयां खोली जा सकें ।

वाइट हाउस के प्रेस सेक्रेटरी जे कारिणी ने अपनी रोज़ाना प्रेस कान्फ़्रैंस में कहा कि बेशतर टकनीकी इंतिज़ामात का तीन किया जा चुका है लेकिन अब भी कई मसाइल हल तलब हैं । हमें यक़ीन है कि इन तमाम की यकसूई(हल) मुम्किन है और हम ये नतीजा अख़ज़ करने(निकालने) के लिए तय्यार रहते हैं कि जैसे ही पाकिस्तान आमादा हो जाए मुआहिदा किया जा सकता है ।

उन्हों ने कहाकि हम देख चुके हैं कि पाकिस्तान से मोज़ाकराती टीम की बाज़ तलबी(वापसी) एक दरुस्त इक़दाम था जो तकनीकी तबादला-ए-ख़्याल वसीअ तर अंदाज़ में मुकम्मल हो चुका है इस लिए उन्हें वतन वापस आना ज़रूरी था । उन्हों ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि अमरीका अपने ओहदेदार दुबारा पाकिस्तान रवाना करने के लिए तय्यार है।

जब भी हकूमत-ए-पाकिस्तान मुआहिदा को क़तईयत देने के लिए राज़ी होजाए हम अपने ओहदेदारों को दुबारा पाकिस्तान रवाना करेंगे । हमारी ज़िम्मेदारी तकमील हो चुकी है , जल्द से जल्द मुआहिदा की तकमील अब हकूमत-ए-पाकिस्तान की ज़िम्मेदारी है । उन्हों ने कहा कि हकूमत-ए-पाकिस्तान को भी इस की इत्तिला (खबर) दी जा चुकी है ।

दरीं असना(इस दौरान) पाकिस्तान की हुकूमत ने कहा कि वो भी मुआहिदा को क़तईयत देना चाहते हैं । अमरीका इस का मुंतज़िर है । जे कारिणी ने कहा कि उन के ख़्याल में अब भी बाअज़ मसाइल हल तलब हैं लेकिन इन के लिए तकनीकी अफ़राद की ज़रूरत नहीं है ।

TOPPOPULARRECENT