Friday , October 20 2017
Home / India / बाप बनने वाले मुलाज़्मीन को कंपनियों का ‘तोहफा’

बाप बनने वाले मुलाज़्मीन को कंपनियों का ‘तोहफा’

मुल्क की बड़ी कंपनियों में शामिल गोदरेज के एंप्लॉयीज में से बाप बनने जा रहे लोगों को अब खानदान बढ़ने के साथ कंपनी की ओर से ज्यादा सहूलियत भी मिलेंगी। गोदरेज बाप बनने वालों के लिए इस साल एक अप्रैल से पैटरनिटी लीव 5 से बढ़ाकर 10 दिन कर

मुल्क की बड़ी कंपनियों में शामिल गोदरेज के एंप्लॉयीज में से बाप बनने जा रहे लोगों को अब खानदान बढ़ने के साथ कंपनी की ओर से ज्यादा सहूलियत भी मिलेंगी। गोदरेज बाप बनने वालों के लिए इस साल एक अप्रैल से पैटरनिटी लीव 5 से बढ़ाकर 10 दिन करने जा रही है।

गोदरेज के अलावा दिगर कई प्राइवेट कंपनियां भी मुलाज़्मीन के लिए पैटरनिटी लीव के आप्शन पर काम कर रही हैं। इंफिरादी खानदानो (Single Family) और वर्किंग कपल्स की तादाद बढ़ने की वजह से कंपनियां मर्द मुलाज़्मीन की जरूरतों को लेकर ज्यादा हस्सास हो रही हैं।

गोदरेज के तरजुमान ने कहा कि कंपनी ख्वातीन मुलाज़्मीन के साथ मर्द मुलाज़्मीन की फिक्र पर भी ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा, ‘हमने महसूस किया है कि वर्कप्लेस पर जेंडर से जुड़े मुद्दों को लेकर तभी तरक्की हो सकती है, जब मर्दों को भी सहूलियात दी जाए। जब तक मर्द खानदान की जिम्मेदारियों में हाथ नहीं बंटाएंगे, ख्वातीन के लिए प्रोफेशनल लाइफ में आगे बढ़ना मुश्किल रहेगा।’

सैप लैब्स ने भी पिछले महीने अपने पैटरनिटी बेनेफिट्स में बदलाव किया है। बाप बनने वाले एंप्लॉयीज को 5 दिन की पैटरनिटी लीव देने के साथ कंपनी उन्हें बच्चे की पैदाइश के बाद ऑफिस के साथ ही घर से भी कुछ वक्त काम करने का ऑप्शन दे रही है। कंपनी के हेड (एचआर) टी. शिवराम ने बताया, ‘इसका मतलब है कि उनके पास चार घंटे ऑफिस और बाकी घर से काम करने की फ्लेक्सिबिलिटी होगी।’ मुर्द मुलाज़्मीन इस सहूलियात का इस्तेमाल ज़्यादा से ज़्यादा चार हफ्ते और बच्चे की पैदाइश के दो महीनों के अंदर कर सकेंगे।

प्राइवेट कंपनियां इस बारे में सरकारी सेक्टर की तर्ज पर चल रही हैं। मरकज़ी हुकूमत के मुलाज़्मीन को 15 दिनों तक की पैटरनिटी लीव मिलती है, जिसका इस्तेमाल बच्चे की पैदाइश से पहले छह महीने के अंदर किया जा सकता है।

एचआर प्रोफेशनल्स इसे एक काबिल ए तारीफ कदम बताते हैं। केली सर्विसेज के एमडी (भारत और मलेशिया) कमल कारंत ने कहा कि शुरुआत में पैटरनिटी लीव कुछ दिनों की होती थी, लेकिन अब कंपनियां ज्यादा मेहरबान हो रही हैं।

सैपिएंट में मर्द मुलाज़्मीन बच्चे की पैदाइश के एक साल बाद पैटरनिटी लीव ले सकते हैं। कंपनी के तरजुमान ने बताया कि सैपिएंट को बदलती जरूरतों के मुताबिक अपनी पॉलिसी में तरमीम (सधार/amendment) करना पड़ा था। उन्होंने कहा कि एंप्लॉयीज डिलीवरी के वक्त एक या दो दिन की छुट्टी लेते हैं और उसके बाद काम पर वापस लौट आते हैं।

इसके बाद वे एक साल गुजरने पर पैटरनिटी लीव ले सकते हैं।

सॉफ्टवेयर कंपनी टेक महिंद्रा चाइल्ड केयर, स्ट्रेट मैनेजमेंट और बच्चों की परवरिश जैसे मौज़ू पर प्रोफेशनल काउंसलर्स के सेशन मुनाकिद करती है। कंपनी 5 दिन की पैटरनिटी लीव देती है, जिसका इस्तेमाल बच्चा गोद लेने वाले एंप्लॉयीज भी कर सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT