Sunday , October 22 2017
Home / India / बाबरी मस्जिद तनाज़ा फिर मौज़ू बहस

बाबरी मस्जिद तनाज़ा फिर मौज़ू बहस

बाबरी मस्जिद - राम जन्म भुमि मुतनाज़ा फिर एक बार उत्तर परदेश में ज़ेर-ए-बहस है और गुज़श्ता एक माह से काफ़ी कुछ सरगर्मीयां देखी जा रही हैं। आर एस एस, वी एच पी और बी जे पी के सरकरदा क़ाइदीन ने इस मसला को हल करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया है, वहीं नौ

बाबरी मस्जिद – राम जन्म भुमि मुतनाज़ा फिर एक बार उत्तर परदेश में ज़ेर-ए-बहस है और गुज़श्ता एक माह से काफ़ी कुछ सरगर्मीयां देखी जा रही हैं। आर एस एस, वी एच पी और बी जे पी के सरकरदा क़ाइदीन ने इस मसला को हल करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया है, वहीं नौमुंतख़ब गवर्नर राम नाईक ने ये तवक़्क़ो ज़ाहिर किया कि वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी इस पेचीदा मसला पर तवज्जा मर्कूज़ करेंगे।

उत्तर प्रदेश में गुज़श्ता एक माह से ये मसला मुख़्तलिफ़ फोर्म्स में उठाया जा रहा है। गुज़श्ता माह लखनऊ में आर एस एस के सालाना इजलास में नरेंद्र मोदी से ये मुतालिबा किया गया था कि वो मुतनाज़ा अयोध्या मुक़ाम पर आइन्दा पाँच साल में एक बड़ी मंदिर तामीर करवाएं। इस के चंद दिन बाद वी एचपी ने भी यही मसला उठाया और पार्टी लीडर प्रवीण तोगाड़िया ने कहा कि अयोध्या में एक बड़ी मंदिर बहरसूरत तामीर किया जाएगा और ये हिंदूओं की इज़्ज़त और अक़ीदा का मसला है।

इसके बाद वी एचपी के अयोध्या कन्वेनर ने तवक़्क़ो ज़ाहिर किया कि इस मसला पर क़तई फ़ैसला हो जाएगा, ताहम गवर्नर राम नाईक ने गुज़श्ता हफ़्ता अयोश्या का दौरा करके सियासी हलक़ों में हलचल पैदा कर दी। उन्होंने तवक़्क़ो ज़ाहिर किया कि दोनों फ़रीक़ैन को एतेमाद में लेकर इस मसले को हल कर लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अब तक वज़ीर-ए-आज़म मोदी तमाम मसाइल पर हर तबक़ा को साथ लेकर चल रहे हैं। उन्हें यक़ीन है कि आइन्दा 5 साल में इस मसला पर भी तवज्जा दिया जाएगी और हल कर लिया जाएगा। काबीना में शामिल नए वज़ीर साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि समाज के तमाम तबक़ात के साथ मुफ़ाहमत के ज़रीया राम मंदिर तामीर किया जाएगा।

उन्होंने अपने हल्क़ा-ए-इंतख़ाब के फ़तह के दौरा के मौक़ा पर कहा था कि ये तमाम हिंदूस्तानी अवाम की ज़िम्मेदारी है। अखिलेश यादव काबीना के एक सीनीयर वज़ीर ने ताहम संघ परिवार पर एक ऐसे मसला को जिसे बर्फ़दान के नज़र कर दिया गया, फिर मौज़ू बेहस बनाने का इल्ज़ाम आइद किया। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद की शहादत के बाद यहां एक मंदिर बन चुका है, अब आख़िर वो और क्या तामीर करना चाहते हैं?।

TOPPOPULARRECENT