Wednesday , June 28 2017
Home / International / बार्कलेज़ के पूर्व सीईओ पर कतर को वित्तपोषण प्रदान करने के मामले में धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया गया

बार्कलेज़ के पूर्व सीईओ पर कतर को वित्तपोषण प्रदान करने के मामले में धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया गया

जॉन वर्ली, बार्कलेज़ के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी, स्रोत : अल जज़ीरा

ब्रिटेन के ‘सीरियस फ्रॉड ऑफिस’ ने 2008 में कतर में निवेश की मांग करने वाले बार्कलेज़ बैंक और उसके चार पूर्व अधिकारियों पर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है।

बार्कलेज़ ने क़तर की ओर मुख मोड़ा क्यूंकि वो अपनी वित्तीय स्थिति को मजबूत करना चाहते थे और वित्तीय संकट से बचने के लिए सरकारी खैरात नहीं लेना चाहते थे।

एसएफओ ने एक बयान में कहा, ” द सीरियस फ्रॉड ऑफिस ने आज बार्कलेज़ पीएलसी और चार व्यक्तियों पर धोखाधड़ी करने की साजिश रचने और गैरकानूनी वित्तीय सहायता के प्रावधान अपनाने का आरोप लगाया है”।

कतर से पूंजी जुटाने के इस घोटाले में पूर्व सीईओ जॉन वर्ली सहित अन्य तीन लोग भी शामिल हैं, जिन्हे अदालत में हाज़िर होना पड़ेगा, एसएफओ ने एक बयान में कहा।

“बार्कलेज़ पीएलसी पर आरोप क़तर होल्डिंग एलएलसी और चैलेंजर यूनिवर्सल लिमिटेड से पूंजी जुटाने की व्यवस्था से संबंधित है, जो जून और अक्टूबर 2008 में की गयी थी,” एसएफओ ने कहा।

इस व्यवस्था के माध्यम से 2008 में क़तर राज्य को $ 3 अरब का क़र्ज़ दिया गया था जो क़तर आर्थिक मंत्रालय और वित्त मंत्रालय के लिए कार्य कर रही थी।

अन्य तीन जिन पर आरोप लगाए गए हैं वे हैं , बार्कलेज़ की निवेश बैंकिंग के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष, रॉजर जेरकिंस; बार्कलेज़ की संपत्ति और निवेश प्रबंधन के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी, थॉमस कॅलरीस और वित्तीय संस्थान के पूर्व यूरोपीय प्रमुख, रिचर्ड ब्रोथ।

बयान में कहा गया है कि, यह सभी 3 जुलाई को लंदन के वेस्टमिंस्टर मैजिस्ट्रेट्स कोर्ट के सामने पेश होंगे।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT