Tuesday , October 24 2017
Home / Khaas Khabar / बालिग़ों में एड्स के जरासीम ( कीटाणू) के फैलाव में कमी

बालिग़ों में एड्स के जरासीम ( कीटाणू) के फैलाव में कमी

एड्स के वाइरस ( Virus) की निगरानी से मुताल्लिक़ ( सबंधित) एक मुतालिबा में ये उजागर हुआ है कि बालिग़ों में एच आई वी के वाक़ियात ( घटनायें) में मजमूई तौर पर कमी आई है।

एड्स के वाइरस ( Virus) की निगरानी से मुताल्लिक़ ( सबंधित) एक मुतालिबा में ये उजागर हुआ है कि बालिग़ों में एच आई वी के वाक़ियात ( घटनायें) में मजमूई तौर पर कमी आई है।

क़ौमी एड्स कंट्रोल तंज़ीम (NACO) की सालाना रिपोर्ट 12।011 में एड्स की वबा (महामारी) के फैलाओ के अंदाज़े के तजज़िये (मुताबिक़) में ये मालूम हुआ है कि ऐसे वाक़ियात ( घ्टनायें) में कमी आई है और नए लोगों के एच आई वी से मुतास्सिर (प्रभावित) होने की वारदातें कम हुई हैं वैसे बाअज़ ( कुछ) मख़दूश रियास्तों (भयग्रस्त राज्यो) में एच आई वी की वबा (महामारी) में बढ़ने का रुजहान में रोक थाम के इक़दामात (कार्य) पर ज़्यादा तवज्जा दी जाये।

ताहम क़ौमी सतह पर भी और बेशतर रियास्तों में भी एच आई वे के असरात में कमी का रुजहान देखा जा रहा है।लेकिन दीगर ज़्यादा मख़दूश ग्रुपों में बहुत सी रियास्तों में अहम मख़दूश बन कर वो लोग उभर रहे हैं जो हमजिंसी करते हैं यानी मर्दों से मर्दों के ताल्लुक़ात, मुंशी दवाओं का इंजेक्शन लगाने वाले लोग और ऐसे मर्द जो दूसरे शहरों में अकेले रहते हैं।

TOPPOPULARRECENT