Friday , October 20 2017
Home / India / बाज़ लोग झूटी बातें फैला रहे हैं: हुकूमत गुजरात

बाज़ लोग झूटी बातें फैला रहे हैं: हुकूमत गुजरात

अहमदाबाद । हुकूमत गुजरात ने आज कहा कि हालाँकि सुप्रीम कोर्ट की मुक़र्रर कर्दा(तय कि हुइ) एस आई टी चीफ़ मिनिस्टर नरेंद्र मोदी को बेक़सूर क़रार दे चुकी है बाज़ अनासिर(लोग) अब भी झूटी बातें फैला रहे हैं ताकि रियास्ती हुकूमत को बदनाम कर स

अहमदाबाद । हुकूमत गुजरात ने आज कहा कि हालाँकि सुप्रीम कोर्ट की मुक़र्रर कर्दा(तय कि हुइ) एस आई टी चीफ़ मिनिस्टर नरेंद्र मोदी को बेक़सूर क़रार दे चुकी है बाज़ अनासिर(लोग) अब भी झूटी बातें फैला रहे हैं ताकि रियास्ती हुकूमत को बदनाम कर सकें।

हिंदूस्तानी हुक्मरानी की तारीख़ में कभी भी एसा नहीं हुआ था कि एस आई टी की जानिब से तफ़सीली तहक़ीक़ात की गई हो। एस आई टी की रिपोर्ट ने झूटी बातों की धज्जियां बिखेर दी गई हैं, जो हुकूमत गुजरात को बदनाम करने के लिए फैलाई जा रही हैं। रियास्ती हुकूमत के तर्जुमान(अनुवादक) वज़ीर-ए-सेहत(स्वास्थ मंत्री) जय‌ नारायण वियास ने कहा कि हम अवाम को जो झूटी बातें फैला रहे हैं, चैलेंज करते हैं कि ज़किया जाफरी के इल्ज़ामात को साबित कर दिखाएंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने मुशीर क़ानूनी बराए अदालत(अदालत के कानुनी सलाहकार) राजू रामचंद्रन को मुक़र्रर(तय) किया था, जिन्हों ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मज्हबी ग्रुपों के दरमयान दुश्मनी को फ़रोग़ देने(फेलाने) के इल्ज़ाम में नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ मुक़द्दमा चलाया जा सकता है।

एस आई टी ने अपनी इख़ततामी(अखीरि) रिपोर्ट में कहा था कि रामचंद्रन ने मुअत्तल(सस्पेंड) आई पी एस ओहदेदार संजीव भट्ट के ब्यान पर इन्हिसार करते हुए(अहमियत देते हुए)ग़लती की है। भट्ट ने इल्ज़ाम आइद किया था कि 27 फ़रवारी 2002 के इज्लास(मीटींग) में नरेंद्र मोदी ने पुलिस को हिदायत दी थी कि गोधरा ट्रेन आतिशज़नी(को जलाने) पर हीन्दूओं को ग़ुस्सा उतारने का मौक़ा दिया जाए।

TOPPOPULARRECENT