Wednesday , October 18 2017
Home / Uttar Pradesh / बिजली गिरने से सात लोगों की मौत, जानवरों की भी हुई मौत

बिजली गिरने से सात लोगों की मौत, जानवरों की भी हुई मौत

मानसून की पहली बारिश के दौरान जुमेरात को रांची और खूंटी जिले में ठनका गिरने से सात लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में एक मां-बेटी भी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक, रांची जिले के नामकुम ब्लॉक के चरनाबेड़ा गांव के पास तकरीबन ढाई बजे ठ

मानसून की पहली बारिश के दौरान जुमेरात को रांची और खूंटी जिले में ठनका गिरने से सात लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में एक मां-बेटी भी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक, रांची जिले के नामकुम ब्लॉक के चरनाबेड़ा गांव के पास तकरीबन ढाई बजे ठनका गिरा, जिससे मकान तामीर में लगे बिजला तिर्की, चातु उरांव व इमानुएल बिंहा की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं जीतनी देवी और एजेंलिना नामी खातून बुरी तरह से झुलस गईं।

इधर, बेड़ो ब्लॉक के तुको गांव में ठनका गिरने से सुकरा उरांव की मौत हो गई। दूसरी तरफ, खूंटी के न्यू पीढ़ी टोली में भी ठंका से सोहराई मुंडा और कर्रा ब्लॉक के बमरजा गांव में सुबह ठनका की चपेट में आने से जागरण उरांव की बीवी सुको देवी और उसकी छह साल की बेटी सीता की मौके पर ही मौत हो गई। लोगों ने इंतेजामिया से मुतासीर खानदानों के लिए इक़्तेसादी मदद की मुताल्बा की है।

पुलिस मुलाज़िमीन भागने लगे खूंटी के न्यू पीढ़ी टोली में वज्रपात के बाद मुक़ामी थाने की पुलिस और जैप के जवान जाये हादसा पर पहुंचे। उसी वक्त वहां तेज आवाज के साथ बिजली चमकने लगी। इससे घबराकर पुलिस के जवान भागने लगे। लेकिन थोड़ी देर में लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।
जानवरों की भी मौत

अनगड़ा में वज्रपात की चपेट में आने से गरबेड़ा के बलकू महतो के 14 भेड़ों की मौत हो गई। बलकू भेड़ चराने बगल के जंगल में गया था। इसके अलावा कर्रा में सुको देवी और उनकी बेटी भी गाय चराने के लिए खेतों में गई थी और वज्रपात का शिकार हो गई।

देसी तरीके से इलाज

बिजली गिरने की वाकिया के बाद मुतासीर कुछ लोगों को इलाज के लिए गांव वाले देशी तरीका इसस्तेमाल करने लगे। कर्रा के बसंत साहू और पूरन साहू को भी झटका लगा और ये मामूली तौर पर झुलस गए। जबकि ज्यादातर लोग हेंल्थ सेंटर लाए गए।

TOPPOPULARRECENT