Monday , September 25 2017
Home / Bihar News / बिहार इंतिख़ाब में 10 सबसे भड़काऊ बयान

बिहार इंतिख़ाब में 10 सबसे भड़काऊ बयान

पटना : बिहार में अगले तीन मरहलों के लिए इंतिख़ाब तशहीर उरोज पर है। हर सियासी मोर्चे की कोशिश ओपोजीशन पर बढ़त हासिल करने की है। इंतिखाबी रैलियों में लीडर तरह-तरह के बयान दे रहे हैं। उनमें से कुछ बहुत मुतनाज़ा बयान रहे.
1. बिहार के साबिक़ वजीरे आला जीतन राम मांझी ने कह दिया “चुनाव नहीं लड़ने वाले लीडरों की हालत उन बांझ ख़वातीन के बराबर है जो हमाल की दर्द नहीं जान पातीं। ”
उन्होंने ये बयान 21 सितंबर को मखदूमपुर एसेम्बली हल्के से नॉमिनेशन दाखिल करने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिया था।
2. राष्ट्रीय जनता दल सरबराह लालू प्रसाद यादव ने एक इंतिखाबी इजलास में कहा, “यदुवंशियों अलर्ट हो जाओ ! इ महाभारत हऊ रे भाई। अपने वोट को छितराने नहीं देना। इस इंतिख़ाब में लड़ाई बैकवर्ड-फ़ारवर्ड के दरमियान है। ”है.
लालू ने बयान अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव के एसेम्बली हल्के राघोपुर में दिया था।
3. भाजपा सदर अमित शाह ने लालू को ‘चारा चोर’ कहा। उन्होंने कहा, “जिस बिहार को संपूर्ण क्रांति के हीरो जयप्रकाश नारायण, पहले सदर राजेंद्र प्रसाद, चाणक्य और चंद्रगुप्त के नाम से जानने की रिवाज रही है, आज वह चारा चोर लालू के नाम से जाना जाता है। ”
4. लालू ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, “हिंदू बीफ़ नहीं खाते क्या? जो बाहर जाते हैं बीफ़ खा रहे हैं कि नहीं? जो गोश्त खाते हैं उसके लिए गाय और बकरे के गोश्त में क्या फर्क है। ”
बयान को लेकर भाजपा लीडरों ने उनपर हमला बोल दिया। लालू ने सफ़ाई दी कि बीफ़ का मतलब गाय का गोश्त नहीं होता है।
5. अकबरुद्दीन ओवैसी ने किशनगंज की एक इजलास में कहा, “वजीरे आजम मोदी गुजरात फसाद के मुजरिम हैं। नरेंद्र मोदी शैतान हैं, दरिंदा हैं। ”
एआईएमआईएम लीडर ने ये बयान 4 अक्टूबर को दी। उनके ख़िलाफ़ मामले में एफ़आईआर दर्ज हुई।
6. लालू प्रसाद यादव ने 30 सितम्बर को ट्वीट किया, ‘‘एक आदम खोर और तड़ीपार बिहार को फाजिलत न सिखाए। पहले खुद के कुकर्म और ख़ुद पर लगी सारी जुर्म के दफ़ात के बार में चिल्ला चिल्ला कर लोगों को बताए। ” बाद में लगभग ऐसी ही बातें उन्होंने कई इजलास में दोहराई हैं। उनके ख़िलाफ़ पटना और जमुई में दो अलग-अलग एफ़आईआर दर्ज कराई गई।

7. नरेंद्र मोदी ने 8 अक्टूबर को हुई इंतिखाबी इजलास में लालू को निशाने पर लेते हुए कहा था, ‘‘वह क्या-क्या खाने की बात कह रहे हैं? लालू ने यदुवंशियों को गाली दी है, उनका बेइज्ज़त किया है। वह कह रहे हैं कि शैतान उनके अंदर घुस गया था। मैं पूछता हूं कि शैतान को पूरी दुनिया में सिर्फ उनका पता कैसे मिल गया?”
दूसरे दिन राष्ट्रीय जनता दल ने नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ एलेक्शन कमीशन में शिकायत दर्ज कराई।
8. लालू प्रसाद यादव ने एक बयान में कहा, ‘‘मुझे शैतान कहने वाला खुद शैतान है। हम भूत शैतान का इलाज जानते हैं। ’’ सबसे पहले लालू यादव ने एक इंतिखाबी रैली में वजीरे आजम नरेंद्र मोदी को शैतान कहा था।
9. अमित शाह ने 10 अक्टूबर को नवादा की रैली में कहा, “एनडीए को जिताने के लिए ऐसे बटन दबाएं कि इटली तक करंट जाए। ” इस बयान को उन्होंने बाद में भी कई इजलास में दोहराया।
10. मरकज़ी वज़ीर साध्वी निरंजन ज्योति ने 13 अक्टूबर को मुज़फ्फ़रपुर में कहा था, “जिस तरह मच्छर भगाने के लिए कूड़े-कचरे में आग लगाई जाती है, उसी तरह वोट के आग से बिहार के कूड़े-कचे को जलाओ, जिससे मच्छर (लालू प्रसाद और नीतीष कुमार) भाग जाएं। ”

 

बाशुक्रिया : बीबीसी हिन्दी डॉट कॉम 

 

TOPPOPULARRECENT