Monday , October 23 2017
Home / Bihar News / बिहार की वज़ीर समाजी बहबूद प्रवीण अमानुल्लाह हटे

बिहार की वज़ीर समाजी बहबूद प्रवीण अमानुल्लाह हटे

बिहार में नीतीश कुमार हुकूमत को आज ज़बर्दस्त धक्का लगा जब वज़ीर समाजी बहबूद प्रवीण अमानुल्लाह ने उनकी काबीना से इस्तीफ़ा दे दिया। उन्होंने अपना मकतूब इस्तीफ़ा चीफ़ मिनिस्टर को भेज‌ दिया है।

बिहार में नीतीश कुमार हुकूमत को आज ज़बर्दस्त धक्का लगा जब वज़ीर समाजी बहबूद प्रवीण अमानुल्लाह ने उनकी काबीना से इस्तीफ़ा दे दिया। उन्होंने अपना मकतूब इस्तीफ़ा चीफ़ मिनिस्टर को भेज‌ दिया है।

प्रवीण ने अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि वो मौजूदा निज़ाम के तहत काम करने में दुश्वारी महसूस कररही थीं और उन्हों ने जे डी (यू) की इबतिदाई रुक्नियत से भी अलग‌ होने का ऐलान किया। प्रवीण अमानुल्लाह ने कहा कि वो दुबारा समाजी ख़िदमात में सरगर्म होजाउंगी जिन से वो लम्बे अर्से से वाबस्ता हैं।

प्रवीण अमानुल्लाह जो सीनियर सरकारी अफ़्सर अफ़ज़ल अमानुल्लाह की शरीक-ए-हयात हैं और अफ़ज़ल अमानुल्लाह को फ़िलहाल मर्कज़ी हुकूमत में तैनात किया गया है। प्रवीण ने वज़ारत और पार्टी छोड़ने की वाज़िह वजह नहीं बताई और कहा कि उन्हें चीफ़ मिनिस्टर या दीगर वज़रा से कोई शिकायत या मुख़ालिफ‌त नहीं है।

उन्होंने बहैसियत वज़ीर काबीना में अपनी शमूलियत पर चीफ़ मिनिस्टर का शुक्रिया भी अदा किया। प्रवीण अमानुल्लाह जो साबिक़ आला सिफ़ारती ओहदेदार और बाबरी मस्जिद ऐक्शण कमेटी के एक सरकरदा लीडर सय्यद शहाबुद्दीन की दुख़तर भी हैं, 2010 के इंतिख़ाबात में असेंबली हलक़ा साहिब कलाम से मुंतख़ब हुई थीं।

उनके शौहर अफ़ज़ल अमानुल्लाह 2002 के दौरान चीफ़ मिनिस्टर नीतीश कुमार की पहली मीयाद में मोतमिद दाख़िला की हैसियत से ख़िदमात अंजाम दी थीं मर्कज़ी हुकूमत के लिए काम करने के मक़सद से दिल्ली रवाना होगए थे। फ़िलहाल वो ब्यूरो आफ़ इंडियन इस्टांडर्डस के डायरेक्टर जनरल हैं। प्रवीण ने कहा कि वो इस्तीफ़ा के लिए पहले ही ज़हन बना चुकी थीं और राज्य सभा इंतिख़ाबात के बाद मैंने फ़ैसला किया ऐलान किया है।

TOPPOPULARRECENT