Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / बिहार के वज़ीर को जिंदा जलाने की कोशिश

बिहार के वज़ीर को जिंदा जलाने की कोशिश

बिहार के सासाराम में भीड़ ने रोहतास के जिला मजिस्ट्रेट, पुलिस सुप्रीटेंडेंट और दिगर आफीसरों के सामने रियासत के एक कैबिनेट मिनिस्टर को जिंदा जलाने की कोशिश की। यह वाकिया पीर के शाम की है।

बिहार के सासाराम में भीड़ ने रोहतास के जिला मजिस्ट्रेट, पुलिस सुप्रीटेंडेंट और दिगर आफीसरों के सामने रियासत के एक कैबिनेट मिनिस्टर को जिंदा जलाने की कोशिश की। यह वाकिया पीर के शाम की है।

वाकिया ताराचंदी मंदिर में हुआ जहां इंतेज़ामिया ने नवरात्री के मौके पर शकाफती प्रोग्राम मुनाकिद किया था। प्रोग्राम का इफ्तेताह रियासत के Arts and Culture Minister विनय बिहारी ने किया, जो Folk singer भी हैं। इस दौरान उन्होंने मज़हबी गाने भी गाए। दिगर Folk singers को भी इस प्रोग्राम में प्रेजेंटेशन देना था ।

हालांकि, खराब आवाज और बैठने का इंतेज़ाम की वजह से प्रोग्राम में मौजूद लोग नाराज हो गए और उनमे से कुछ लोगों ने मंच की ओर कुर्सियां फेंकनी शुरू कर दी। इनमें से एक कुर्सी पुलिस सुप्रीटेंडेंट चंदन कुमार कुशवाहा पर गिर गई जिसके बाद पुलिस ने लोगों पर लाठियां भाजनी शुरू कर दी। इससे लोग और नाराज हो गए और उन्होंने पुलिस एवं मंच पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए।

लोगों के गुस्से को भांपते हुए वज़ीर और आफीसर इधर उधर भागते हुए नजर आए। मंगल की सुबह नामानिगारो से बातचीत करते हुए वज़ीर ने बताया कि अगर मंच के नीचे मैं दो घंटे तक नहीं छुपता तो लोग मुझे जिंदा जला देते। गुस्साई भीड़ ने उनकी सरकारी कार को आग के हवाले कर दिया था।

बिहारी ने बताया कि पेट्रोल के कैन लेकर घूम रहे लोगों को यह कहते हुए सुना की वज़ीर को जिंदा जलाएंगे। मैंने बाद में अपना दिमाग इस्तेमाल करते हुए मंच के नीचे से निकलकर सड़क की ओर दौड़ पड़ा। लोगों ने मंच को आग के हवाले कर दिया। हालांकि, सड़क की ओर दौड़ते वक्त लोगों ने उनकी ओर पत्थर फेंके जिससे उनके सिर में चोटें आई।

वज़ीर ने इंतेज़ामिया को वाकिया के लिए जिम्मेदार बताते हुए मामले की हाई लेवल जांच की मांग की है। जबकि, पुलिस सुप्रीटेंडेंट कुशवाहा ने कहा कि 500 नामालूम लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमे से एक के पास से पेट्रोल से भरी बोतल भी बरामद की गई है।

जिला मजिस्ट्रेट आर के झा ने बताया कि वज़ीर के आने की इत्तेला देरी से मिलने के सबब हम उनकी सेक्युरिटी की ज़्यादा बंदोबस्त नहीं कर पाए। हालांकि, वज़ीर के मुताबिक उन्होने जिला इंतेज़ामिया को एक महीना पहले ही प्रोग्राम में हिस्सा लेने की जानकारी दे दी थी। वज़ीर की कार के अलावा भीड़ ने दिगर 12कारों को भी आग के हवाले कर दिया। इस तशद्दुद मे 100 लोग जख्मी भी हुए हैं।

वज़ीर का इल्ज़ाम है कि साजिश के तहत वाकिया को अंजाम दिया गया। सिर्फ मेरी ही कार को आग के हवाले क्यो किया गया। कई सरकारी गाडियां पास में खड़ी थीं।

TOPPOPULARRECENT