Monday , September 25 2017
Home / Bihar News / बिहार के स्कूलों में 30 बच्चों पर एक शिक्षक का फॉर्मूला, 1.80 लाख शिक्षक होंगे नियुक्त

बिहार के स्कूलों में 30 बच्चों पर एक शिक्षक का फॉर्मूला, 1.80 लाख शिक्षक होंगे नियुक्त

पटना। प्रदेश में टीइटी-एसटीइटी के बाद सरकारी स्कूलों में अगले साल से 1.80 लाख से अधिक शिक्षकों की नियुक्ति होगी। शिक्षा विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए नये पद भी सृजित किये जायेंगे। इसमें 30 बच्चों पर एक शिक्षक के अनुपात को ध्यान में रखा जायेगा. वर्तमान में स्कूलों में छात्र-शिक्षक का अनुपात करीब 50:1 है।

वर्तमान में जहां 1.02 लाख पद खाली हैं, वहीं पिछले चार सालों में 80 हजार से एक लाख तक शिक्षक रिटायर हुए हैं। इस तरह टीइटी-एसटीइटी के बाद अगले साल नयी नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हुई, तो 1.80 लाख से ज्यादा पदों पर बहाली हो सकेगी।

शिक्षा विभाग ने 2012 में प्राथमिक से लेकर प्लस टू स्कूलों में करीब दो लाख पद सृजित कर बहाली प्रक्रिया शुरू की गयी थी। पिछले चार सालों तक चली नियोजन प्रक्रिया के बावजूद आधे से ज्यादा पद खाली हैं। प्रारंभिक स्कूलों (क्लास एक से आठ) में 85 हजार, हाइस्कूलों में साढ़े छह हजार और प्लस टू में 12 हजार पद रिक्त हैं।

हाइ व प्लस टू स्कूलों में फिलहाल नियुक्ति प्रक्रिया चल रही है। इनमें से कुछ पद भरे जाने की उम्मीद है। 30 बच्चों पर एक शिक्षक के अनुपात में नये पदों के सृजन और पूर्व से आयी रिक्तियों के बाद 2017 से नयी बहाली प्रक्रिया शुरू होगी। 17-18 दिसंबर को होनेवाली टीइटी व एसटीइटी के परिणाम आने के बाद नयी बहाली के लिए आवेदन लिये जायेंगे।

TOPPOPULARRECENT