Wednesday , October 18 2017
Home / Bihar News / बिहार में अक़लियत अकसरियत इलाकों में खुलेंगे 433 स्कूल

बिहार में अक़लियत अकसरियत इलाकों में खुलेंगे 433 स्कूल

अक़लियत अकसरियत जिलों में मार्च 2014 तक 260 ऐसे स्कूल खोले जाएंगे। बाक़ी स्कूलों को अगले माली साल में खोलने की तजवीज है। वहीं 225 से ज़्यादा प्राइमरी स्कूलों के लिए नये इमारत बनाए जाएंगे। अकलियतों के तालीम के मामले में तस्वीर के दूसरे रुख (

अक़लियत अकसरियत जिलों में मार्च 2014 तक 260 ऐसे स्कूल खोले जाएंगे। बाक़ी स्कूलों को अगले माली साल में खोलने की तजवीज है। वहीं 225 से ज़्यादा प्राइमरी स्कूलों के लिए नये इमारत बनाए जाएंगे। अकलियतों के तालीम के मामले में तस्वीर के दूसरे रुख (मदरसों) पर गौर करें तो वहां से बहुत खुश करने वाले नतीजे के इशारे नहीं हैं। सरकार मदरसों में कंप्यूटर, साइंस लैब, लड़कियों के लिए हॉस्टल, बाइतुल खुला , इजाफ़ी क्लास रूम और पीने के पानी जैसी बुनियादी सहूलतों के लिए माली मदद देने का दावा जरूर करती है, मगर उस दावे के आलोक में मदरसों में बुनियादी स्ट्रक्चर का तरक़्क़ी नहीं हो पा रहा है। इसलिए दो महकमों के मुश्तरका कोशिश से अक़लियत अकसरियत इलाकों में तालीम के तरक़्क़ी पर जोर दिया जा रहा है। मदरसों में भी तालीम के लिए साइंस, मैथ्स और अंग्रेजी पढ़ाने वाले असातिज़ा के मेहनताने की मद में साल दर साल इजाफा करने का फैसला भी लिया गया है।

आकलियतों की पढ़ाई-लिखाई के फी हुकूमत संगीन है। मदरसों में बुनियादी ढांचे की तामीर के लिए ग्रांट में इजाफा करने से लेकर आकलियत अकसरियत इलाकों में जरूरत के हिसाब से हुकूमत प्राइमरी स्कूल खोलने की तैयारी में है। अक़लियत बोहबुद महकमा और तालीम महकमा के मुश्तरका कोशिश से 433 प्राइमरी स्कूलों को खोलने की तजवीज तैयार किया गया है, जिसकी मंजूरी जल्द ही कैबिनेट से ली जाएगी। गुजिशता साल अक़लियत अकसरियत इलाकों के लिए सरकार ने जितने प्राइमरी स्कूलों को खोलने का हदफ़ तय किया था उसे हासिल करने के लिए नये तजवीज को हतमी तौर दिया गया है। प्राइमरी स्कूलों के ऊपर खर्च होने वाली रकम में सेंटर से भी मदद ली जाएगी। अक़लियत अकसरियत जिलों में मार्च 2014 तक 260 ऐसे स्कूल खोले जाएंगे। बाक़ी स्कूलों को अगले माली साल में खोलने की तजवीज है।

TOPPOPULARRECENT