Thursday , October 19 2017
Home / District News / बीदर के आज़मीन्हज्ज का इंतिख़ाब

बीदर के आज़मीन्हज्ज का इंतिख़ाब

अल्हाज सय्यद सग़ीर अहमद नायब सदर अंजुमन ख़ादिम अलहजाज बीदर के सहाफ़ती बयान के बमूजब मुस्तक़र के आज़मीने हज्ज 2014 के लिए दरख़ास्त गुज़ारों के क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीये इंतिख़ाब का अमल मुकम्मिल होचुका है।

अल्हाज सय्यद सग़ीर अहमद नायब सदर अंजुमन ख़ादिम अलहजाज बीदर के सहाफ़ती बयान के बमूजब मुस्तक़र के आज़मीने हज्ज 2014 के लिए दरख़ास्त गुज़ारों के क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीये इंतिख़ाब का अमल मुकम्मिल होचुका है।

बीदर से फ़रीज़ा ए हज-ओ-उमरा के लिए जाने वाले ख़ुशनसीब आज़मीने हज की जुमला 371 महफ़ूज़ ज़मुरा के दरख़ास्त फॉर्म कर्नाटक स्टेट हज कमेटी बैंगलौर के दफ़्तर में दाख़िल किया गया जिस को 27 अप्रैल 2014 को क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीये 218 ख़ुशनसीब मुंतख़ब हुज्जाज इकराम के नाम का एलान किया गया।

सय्यद सग़ीर अहमद ने बताया कि 22 आज़मीने हज के दरख़ास्त फॉर्म जो महफ़ूज़ ज़मुरा से ताल्लुक़ रखते हूँ इन्हें क़ुरआ से मतशनी रखा गया माबक़ी दरख़ास्त फॉर्म वेटिंग लिस्ट में रखे गए हैं।

सय्यद सग़ीर अहमद ने बताया कि तमाम मुंतख़ब आज़मीन अपनी पहली क़िस्त मबलग़ 81 हज़ार रुपये फी कस के एतेबार से 10 मई2014 से पहले स्टेट बंक आफ़ इंडिया के कवर बंकिंग सिस्टम के तहत मख़सूस चालान (Pay In Slip) के ज़रीया जमा करदें मुक़र्ररा वक़्त में रक़म जमा ना करवाने की सूरत में मुंतख़ब शूदा शख़्स का नाम ख़ारिज कर दिया जाएगा ,और उस की जगह वेटिंग लिस्ट के एतेबार से दूसरा नाम शामिल कर दिया जाएगा।

सय्यद सग़ीर अहमद ने मज़ीद बताया कि हर मुंतख़ब शूदा आज़िम स्टेट हज कमेटी की तरफ से जारी करदा परवीझ़नल स्लेक्शन लीटर के साथ अलाहिदा अलाहिदा बैंक सेफ़रैंस नंबर जाना लाज़िमी है जिस के बगै़र बैंक में रक़म को क़बूल नहीं किया जाएगा।

इस लिए पहली क़िस्त जमा करने से पहले या तो परवीझ़नल स्लेक्शन लीटर का इंतेज़ार करें या फिर दफ़्तर ख़ादिम अलहजाज ज़िला बीदर से रब्त पैदा करें और अपना बंक रेफ़रैंस नंबर और चालान हासिल करलीं।

TOPPOPULARRECENT