Tuesday , October 17 2017
Home / India / बीबी फ़लक ज़िंदगी और मौत की कश्मकश में मुबतला

बीबी फ़लक ज़िंदगी और मौत की कश्मकश में मुबतला

नई दिल्ली ०२ फरवरी (पी टी आई) दो साला फ़लक जिसे शदीद ज़ख़मी हालत में हॉस्पिटल लाया गया था । ज़िंदगी और मौत की कश्मकश में मुबतला है की उनका एम्स के डॉक्टर्स का ये कहना है कि फ़लक को इंफेक्शन हो गया है ।

नई दिल्ली ०२ फरवरी (पी टी आई) दो साला फ़लक जिसे शदीद ज़ख़मी हालत में हॉस्पिटल लाया गया था । ज़िंदगी और मौत की कश्मकश में मुबतला है की उनका एम्स के डॉक्टर्स का ये कहना है कि फ़लक को इंफेक्शन हो गया है ।

एम्स के जय प्रकाश नारायण अपेक्स ट्रामा सेंटर के डाक्टर दीपक अग्रवाल ने कहा कि फ़लक की हालत तशवीशनाक है की उनका इस के दिमाग़ में इंफेक्शन हो गया है और इस तरह अब फ़लक के बचने के इमकानात मौहूम होते जा रहे हैं।

याद रहे कि 18 जनवरी से फ़लक एम्स हॉस्पिटल में ज़ेर ईलाज है । इस के जिस्म की हालत को देख कर एसा लगता है कि जैसे किसी दरिंदे ने उसे नोच नोच कर खाने की कोशिश की है जो दरअसल किसी दरिंदे का नहीं बल्कि इंसानी कारनामा है जिस ने दरिंदगी से भी ज़्यादा गिरी हुई हरकत की है ।

इस की ज़िंदगी बचाने डॉक्टर्स ने अब तक तीन ऑपरेशंस किए हैं। आज सुबह की अव्वलीन साअतों में डॉक्टर्स ने फ़लक के दिमाग़ में जमा पानी को रीढ़ की हड्डी के ज़रीया बाहर निकाल दिया । निकलने वाले पानी के नमूनों को लेबारेटरी टेट के लिए रवाना किया गया था और रिपोर्ट मिलने के बाद इंफेक्शन के ईलाज के लिए एंटी बायोटिक का सिलसिला शुरू किया गया है ।

डाक्टर अग्रवाल ने कहा कि फ़लक के लिए आइन्दा 24 से 48 घंटे इंतिहाई तशवीशनाक होंगे । ईलाज का इस पर क्या असर हो रहा है और क्या इस के जिस्म ने तरीका ईलाज को क़बूल किया है , इन सब पहलोओं पर ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किया जा रहा है और फैसला 48 घंटों पर छोड़ दिया गया है ।

जिस वक़्त बीबी फ़लक को हॉस्पिटल लाया गया था , उस वक़्त ना सिर्फ इस के सर पर चोटें थीं बल्कि दोनों हाथ फ्रैक्चर थे और जिस्म के मुख़्तलिफ़ हिस्सों पर काटे जाने के निशानात थे जिसे कोई वहशी दरिन्दा काटता है।

फ़लक के गाल झुलसे हुए थे उसे गर्म इस्त्री से जलाया गया था । फ़िलहाल फ़लक के उपर इसरार मुआमला पर मुल्क भर के मीडिया की नज़रें लगी हुई हैं।

TOPPOPULARRECENT