Tuesday , October 24 2017
Home / India / बीवी ने ” वो ” यानी आशिक को बताया कारकुन

बीवी ने ” वो ” यानी आशिक को बताया कारकुन

मुरादाबाद, 15 जून: शौहर से झगड़ा और 'वो' को लेकर सुर्खियों में आईं चंदौसी की सपा एमएलए लक्ष्मी गौतम वज़ीर ए आला से मिलने लखनऊ पहुंच गई हैं। वह वज़ीरए आला को खुद जानकारी देना चाहती हैं। इम्कान है कि एक-दो दिन में समाजवादी पार्टी की कियादत

मुरादाबाद, 15 जून: शौहर से झगड़ा और ‘वो’ को लेकर सुर्खियों में आईं चंदौसी की सपा एमएलए लक्ष्मी गौतम वज़ीर ए आला से मिलने लखनऊ पहुंच गई हैं। वह वज़ीरए आला को खुद जानकारी देना चाहती हैं। इम्कान है कि एक-दो दिन में समाजवादी पार्टी की कियादत भी इस मशहूर मामले में दखल दे सकता है।

एमएलए बीती रात लखनऊ के लिए रवाना हो गईं थीं। जुमे के दिन दोपहर उन्होंने फोन पर मीडिया से खुद के लखनऊ पहुंचने की तसदीक की। बताया कि अभी वज़ीर ए आला अखिलेश यादव से मुलाकात नहीं हो सकी है। जल्द ही वह मिलकर पूरा वाकिया उनके सामने रखेंगी। खुद को बीमार बताते हुए बातचीत भी ज़्यादा नही कर सकी। इसके बाद फोन रिसीव करना बंद कर दिया।

ज़राए की मानें तो जुमे के दिन वज़ीर ए आला के लखनऊ से बाहर होने की वजह से लक्ष्मी गौतम की उनसे मुलाकात नहीं हो सकी है। ऐसे में हफ्ते के दिन उनकी वज़ीर ए आला से मुलाकात की उम्मीद जताई जा रही है।

इस बीच सम्भल के सपा जिला सदर फिरोज खां की ओर से भी वज़ीर ए आला और सपा चीफ को रिपोर्ट भेज दी गई है। बताते हैं कि इस रिपोर्ट में लक्ष्मी गौतम को कठघरे में खड़ा करते हुए ताजा वाकिया से सरकार व पार्टी की सबी ( Image) मुतास्सिर होने की बात कही गई है।

ऐसे में एक-दो दिन में वज़ीर ए आला या समाजवादी पार्टी की कियादत के सतह से इस मामले में दखल और सख्त हिदायतों की उम्मीद लगाई जा रही है।

बता दें कि बुध की रात चन्दौसी से मुरादाबाद पहुंचे एमएलए लक्ष्मी गौतम के शौहर दिलीप वाष्र्णेय ने बीवी पर आशिक के चक्कर में पड़कर उनसे दूर रहने का इल्ज़ाम लगाया था। महानगर के टीडीआइ सिटी वाकेए लक्ष्मी गौतम के घर पर इस मामले को लेकर काफी देर कहासुनी चली। दिलीप का कहना था उस वक्त घर में एमएलए का आशिक मुकुल अग्रवाल मौजूद था। मियां-बीवी की कहासुनी के बीच वह घर से निकल भागा।

इसके उलट लक्ष्मी गौतम ने दिलीप वाष्र्णेय के शौहर होने से ही इन्कार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह दिलीप के साथ वर्ष 2005 से लिव इन रिलेशनशिप के तौर पर रह रही थीं। दिलीप वाष्र्णेय ने एमएलए बनने के बाद उनका इस्तेहसाल शुरू कर दिया, जिसकी वजह से वह अपनी दोनों बेटियों के साथ मुरादाबाद में अलग रहने लगीं। उन्होंने मुकुल अग्रवाल की अपने घर में मौजूदगी से भी इन्कार किया और उसे पार्टी का कारकुन बताया था।

लक्ष्मी गौतम के विधानसभा इलेक्शन के हलफनामे में दिलीप वाष्र्णेय को शौहर बताने और अब दिलीप के साथ लिव इन रिलेशनशिप की बात कहने पर चंदौसी के साबिक एमएलए गिरीश चंद्र का कहना है कि इस ‘झूठ’ को अदालत में चुनौती देकर वह लक्ष्मी गौतम की तरफ अपनाई गई इंतेखाबी मुहिम पर सवाल उठाएंगे।

TOPPOPULARRECENT