Friday , September 22 2017
Home / Jharkhand News / बुलंद किरदार से ही जीता जा सकता है लोगों का दिल : मौलाना अब्दुल मालिक

बुलंद किरदार से ही जीता जा सकता है लोगों का दिल : मौलाना अब्दुल मालिक

जमशेदपुर : मदीना मस्जिद के पेश ए इमाम हजरत मौलाना हाफीज अब्दुल मालिक मिसबाही ने कहा कि हुजूर ए अकरम सअ. की यौम ए पैदाइस का महीना रबीउल नूर के नाम से जाना जाता है।

24 दिसंबर को रीवायती तरीके से निकलने वाले जुलूस ए मोहम्मदी हमें हुजूरी की आमद और उनके बताये हुए रास्ते पर चलने की इस्लाह पैदा करती है। पैगम्बर ए इसलाम की दुनिया में आमद से पहले जहालत कायम थी। हर तरफ जुल्म व नाइंसाफी का माहौल था। पैगंबर सअ. के जाहिरी दुनिया में तशरीफ लाने के बाद आप अपने सख्सियत, बुलंद किरदार, किरदार से आलम ए इनसानियत को पैगाम दिया कि अच्छे सुलूक और किरदार से लोगों का दिल जीता जा सकता है।

इतवार काे जुगसलाई में अशीकान ए रसूल कमेटी आैर कादरी मस्जिद कमेटी की तरफ से मुनाक्किद होने शान ए रिसालत कांफ्रेंस का इन्काद मस्जिद अहाते में किया गया था। पेश ए इमाम व खतीब कादरी मसजिद काजी मुश्ताक अहमद के तिलावत ए कुरान ए पाक से शान ए रिसालत कांफ्रेंस का आगाज किया गया। प्रोग्राम में हाजी मोहम्मद इसहाक, अब्दुल वाहाब, अबरार आलम, इम्तियाज हुसैन, अजमल कादरी, मोहम्मद मेराज अशरफ, मोहम्मद सादिक खान, इमरान वारसी, शहंशाह वारसी वागिरह अहम तौर से मौजूद थे। कांफ्रेंस इजतेमाई दुआ के साथ देर रात ख़त्म हुआ।

TOPPOPULARRECENT