Thursday , October 19 2017
Home / District News / बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ्तारियों से मिल्लत का नुक़्सान

बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ्तारियों से मिल्लत का नुक़्सान

नांदेड़, 21 मार्च: दहश्तगर्दी के इल्ज़ाम में बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की जा रही गिरफ्तारियों पर इस में किसी एक फ़र्द का नहीं बल्कि पूरी मिल्लत का नुक़्सान शामिल है। एक नौजवान जिसे इस के वालदैन बड़ी आरज़ू से पढ़ाते हैं। लेकिन इसे दहश्त

नांदेड़, 21 मार्च: दहश्तगर्दी के इल्ज़ाम में बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की जा रही गिरफ्तारियों पर इस में किसी एक फ़र्द का नहीं बल्कि पूरी मिल्लत का नुक़्सान शामिल है। एक नौजवान जिसे इस के वालदैन बड़ी आरज़ू से पढ़ाते हैं। लेकिन इसे दहश्तगर्दी के इल्ज़ाम में जेल में कैद करदिया जाता है। ये फ़र्द का नहीं बल्कि क़ौम-ओ-मिल्लत का नुक़्सान है,मिल्लत को बिलउमूम इस से कोई फ़ैज़ नहीं पहुंच रहा है। मौजूदा सयासी क़ाइदीन सिर्फ़ अपनी ज़ात और अपने अक़रबा को फ़ैज़ पहुंचा रहे हैं।

इन सयासी क़ाइदीन के सामने फ़ैज़ आख़िरत का कोई तसव्वुर नहीं। इन ख़्यालात का इज़हार नांदेड़ ज़िला वेलफेर पार्टी आफ़ इंडिया के (शहर सदर) शुएब शहबाज़ ने शहर के खड़क पूरा इलाक़े में मुनाक़िद एक इजलास के मौक़ा बयान की। इस इजलास में नांदेड़ ज़िला वेलफेर पार्टी आफ़ इंडिया के ज़िम्मे दारान में (ज़िला सदर ) फीरोज़ ख़ान ग़ाज़ी,हाफ़िज़ अनीस अहमद ख़ान (सेक्रेटरी)ओ- दीगर पार्टी के कारकुनान और कसरत से अवाम ने शिरकत की।

शुएब शहबाज़ ने मज़ीद कहा कि बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की होरही गिरफ्तारियों पर आज मौजूदा सयासी पार्टियों के क़ाइदीन कुछ भी कहने से गुरेज़ कर रहे हैं। मौजूदा सयासी पार्टियां-ओ-क़ाइदीन के नज़दीक ये क़ियादत इस लिए बेवुक़त है कि मिल्लते मुस्लिमा पर इन का कोई असर नहीं। मिल्लत को अपने साथ लेकर चलने की सलाहियत इन में सिरे से मफ़क़ूद है, वो सिर्फ़ भीड़ इकट्ठा कर सकती है।

इसी तरह ज़िले के मुस्लिम राय दहिंदगान में ये सयासी शऊर बेदार होचुका है कि वो सयासी लीडरान के झूटी और चिकनी चुपड़ी बातों में ना आकर ज़रूरी इंतिख़ाबात के रोज़ नोट के बदले अपने वोट को फ़रोख्त करके अपने ज़मीर के साथ वो कभी सौदा नहीं करेंगे।शहर के खड़क पूरा इलाक़े में मुनाक़िदा इस इजलास में नांदेड़ ज़िला वेलफेर पार्टी आफ़ इंडिया के (सेक्रेटरी) हाफ़िज़ अनीस अहमद ख़ान ने बतारीख़ 23 मार्च को बमुक़ाम मदीना उल-उलूम गराउंड में मुनाक़िद एक अज़ीम कान्फ़्रेंस बउनवान इंसाफ़ के साथ इंसाफ़ करो से मुताल्लिक़ तआरुफ़ी कलिमात अदा किए।

बादअज़ां फीरोज़ ख़ान ग़ाज़ी (ज़िला सदर ) ने वेलफेर पार्टी आफ़ इंडिया की ग़रज़-ओ-ग़ायत के बारे में तफ़सीली मालूमात फ़राहम की। इस मौक़ा कसीर तादाद में अवाम ने अपनी शिरकत दर्ज की।

TOPPOPULARRECENT