Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ्तारियां और हरासानी का दौर ख़त्म

बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ्तारियां और हरासानी का दौर ख़त्म

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना जनाब मुहम्मद महमूद अली ने कहा कि तेलंगाना रियासत में बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ़्तारी और हरासानी की हरगिज़ इजाज़त नहीं दी जाएगी। किसी भी रियासत की पुलिस बेबुनियाद इल्ज़ामात के तहत हैदराबाद क

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना जनाब मुहम्मद महमूद अली ने कहा कि तेलंगाना रियासत में बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ़्तारी और हरासानी की हरगिज़ इजाज़त नहीं दी जाएगी। किसी भी रियासत की पुलिस बेबुनियाद इल्ज़ामात के तहत हैदराबाद के मुस्लिम नौजवानों को गिरफ़्तार नहीं कर पाएगी। आज के बाद हैदराबाद के मुसलमान बेखौफो ख़तर तरक़्क़ी की राह पर गामज़न हो सकते हैं और हुकूमत तालीमी और मआशी तरक़्क़ी के लिए राह हमवार करेगी।

मुल्क की 29वीं रियासत के पहले डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर के ओहदा का जायज़ा हासिल करने के बाद सियासत को ख़ुसूसी इंटरव्यू देते हुए जनाब महमूद अली ने कहा कि चन्द्र शेखर राव की ज़ेरे क़ियादत टी आर एस हुकूमत किसी और रियासत की पुलिस को इस बात की इजाज़त नहीं देगी कि वो किसी भी मुस्लिम नौजवान को गिरफ़्तार करते हुए अपनी रियासत मुंतक़िल करले।

कांग्रेस दौरे हुकूमत में इस तरह के कई वाक़ियात पेश आए जिस में गुजरात पुलिस ने दहश्तगर्दी और दीगर इल्ज़ामात के तहत हैदराबादी नौजवानों को गुजरात की जेलों में मुंतक़िल कर दिया। जनाब महमूद अली ने कहा कि दूसरी रियास्तों की पुलिस को किसी भी नौजवान को हिरासत में लेने से क़ब्ल मुक़ामी पुलिस को इल्ज़ामात का सबूत पेश करना होगा।

उन्हों ने कहा कि बेक़सूर नौजवानों की गिरफ़्तारीयों के मसअले पर मुसलमानों की बेचैनी से हुकूमत अच्छी तरह वाक़िफ़ है और मुस्तक़बिल में इस तरह के वाक़ियात की हरगिज़ एजाज़त नहीं दी जाएगी। उन्हों ने कहा कि उन की हुकूमत अक़लीयतों से किए गए तमाम वादों पर अमल आवरी में संजीदा है और पुराने शहर की तरक़्क़ी के लिए ख़ुसूसी इक़दामात किए जाएंगे।

उन्हों ने कहा कि हैदराबाद की क़दीम तहज़ीब और रवायात का अहया करते हुए उसे एक तरक़्क़ी याफ़्ता शहर में तबदील किया जाएगा। उन्हों ने कहा कि नए और पुराने शहर में तरक़्क़ी के मुआमले में कोई फ़र्क़ नहीं रहेगा। उन्हों ने इस यक़ीन का इज़हार किया कि टी आर एस दौरे हुकूमत तेलंगाना में अक़लीयतों की तालीमी और मआशी तरक़्क़ी के नए दौर का आग़ाज़ साबित होगा।

जनाब महमूद अली का ताल्लुक़ पुराने शहर के मारूफ़ ताजिर घराने से है और उन्हें इस बात का एज़ाज़ हासिल हुआ है कि क़ानूनसाज़ कौंसिल के रुक्न की हैसियत से चन्द्र शेखर राव ने उन्हें ना सिर्फ़ वज़ारत में शामिल किया बल्कि डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर नामज़द किया। मुत्तहदा आंध्र प्रदेश में अभी तक किसी मुसलमान को डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर के ओहदा पर फ़ाइज़ नहीं किया गया था। वो तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के क़ियाम से ही पार्टी से वाबिस्ता हैं और उन का शुमार के सी आर के बाएतेमाद रफ़्क़ा में होता है।

जनाब महमूद अली ने पहली ता पांचवें जमात तक चंचल गुड़ा गवर्नमेंट प्राइमरी स्कूल में तालीम हासिल की जबकि छटी ता आठवीं जमात तक वो आज़म पूरा गवर्नमेंट हाई स्कूल में ज़ेरे तालीम रहे। नौवीं ता बारहवीं जमात की तकमील उन्हों ने मदर्रसा अज़ा मलकपेट से की। अनवारुल उलूम कॉलेज मिले पल्ली से उन्हों ने ग्रैजूएशन किया। बाद में लॉ कॉलेज में दाख़िला लिया लेकिन पहले ही साल क़ानून की तालीम तर्क करदी।

वो 2009 में हल्क़ा लोक सभा सिकंदराबाद से मुक़ाबला किया। 2011 में क़ानूनसाज़ कौंसिल की रुक्नीयत के लिए पार्टी ने उन्हें उम्मीदवार बनाया था ताहम पार्टी अरकाने असेंबली की क्रास वोटिंग के सबब कामयाबी हासिल ना हो सकी। तेलंगाना हुकूमत का नज़्मो नस्क़ करप्शन और बेक़ाईदगियों से पाक होगा और वुज़रा और ओहदेदार अवाम के लिए बाआसानी क़ाबिल रसाई होंगे—-

TOPPOPULARRECENT