Tuesday , September 26 2017
Home / Khaas Khabar / बेनामी संपत्ति को लेकर जनता की चड्ढी-बनियान न उतारें पीएम मोदी: शिवसेना

बेनामी संपत्ति को लेकर जनता की चड्ढी-बनियान न उतारें पीएम मोदी: शिवसेना

मुंबई:बेनामी सम्पत्ति को लेकर देश में चल रहे अभियान पर बुधवार को शिवसेना ने अपने ही सहयोगी भाजपा पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि वह देश में बेनामी संपत्ति का पर्दाफाश करने के चक्कर में जनता की चड्ढी-बनियान न उतारें. एनडीटीवी इंडिया के हवाले से, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा है कि नोटबंदी के बाद अब प्रधानमंत्री ने बेनामी संपत्तियों पर निशाना साधा है. यह एक सराहनीय कदम है. लेकिन नोटबंदी की ही तरह बेनामी संपत्तियां निकालने की आड़ में गरीब और मध्यम वर्ग कुचले जा रहे हैं, जो कि कुचला नहीं जाना चाहिए.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

ठाकरे ने कहा कि नोटबंदी के बाद जनता की तकलीफ लगातार बढ़ती ही जा रही है, लेकिन काला धन रखने वाला एक भी आदमी या उद्योगपति जेल में नहीं डाला गया. बहुत सारे राजनेताओं, व्यापारियों, प्रवासी भारतीयों और माफिया ने पहले से ही अपना कालाधन संपत्तियों में निवेश कर रखा है. लेकिन, अफ़सोस यह है कि नोटबंदी के बाद आम आदमी पर बेईमान होने का लेबल लगा दिया गया.

इस पर अफसोस जताते हुए उसने ने लिखा है, मोदी ने विदेश में बैंकों में रखी भारतीयों की अवैध कमाई को वापस लाने को वादा किया था. लेकिन सच्चाई यह है कि एक रुपया भी बरामद नहीं किया गया और न ही ऐसा धन रखने वालों को एक पैसे का भी नुकसान हुआ. आम जनता नोटबंदी की चोट सह रही है, और अब भी कष्ट झेलने की आशंका है.

गौरतलब है कि 8 नवम्बर के नोटबंदी के बाद पीएम मोदी ने कहा था कि एक महीने में लोगों की कठिनाई दूर हो जाएगी, इसके लिए कई बार कई फैसले बदले गये लेकिन कोई फ़ायदा नहीं हुआ. अंत में मोदी ने कहा 50 दिन इंतजार करें इसके बाद भी कष्ट दूर नहीं हुआ तो मुझे जो चौराहे पर सजा दौगे मैं तैयार रहूँगा. बता दें कि बावजूद इसके भी अभी तक आम जनता की परेशानी ख़त्म नहीं हुई है.

TOPPOPULARRECENT