Sunday , October 22 2017
Home / India / बेलगाम जुर्म और बेखौफ मुजरिम

बेलगाम जुर्म और बेखौफ मुजरिम

भोपाल, 03 मार्च: मध्य प्रदेश में जुर्म बेलगाम हो चले हैं और मुजरिम बेखौफ। यही वजह है कि गुजश्ता 62 दिनों में कत्ल की 324 की वारदातें हुई। इस तरह रोज़ाना पांच से ज्यादा कत्ल हुएं।

भोपाल, 03 मार्च: मध्य प्रदेश में जुर्म बेलगाम हो चले हैं और मुजरिम बेखौफ। यही वजह है कि गुजश्ता 62 दिनों में कत्ल की 324 की वारदातें हुई। इस तरह रोज़ाना पांच से ज्यादा कत्ल हुएं।

असेंबली में बुध के दिन कांग्रेस एम एल ए पांचीलाल मेडा के तरफ से पूछे गए सवाल के जवाब में रियासती वज़ीर ए दाखिला उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि रियासत में एक दिसंबर, 2012 से 31 जनवरी, 2013 के बीच कुल 324 कत्ल हुए हैं।

सबसे ज़्यादा 20 कत्ल इंदौर में हुए। सागर में 16 और उज्जैन में 14 कत्ल हुए। अन्य जराइम पर नजर दौड़ाएं तो पता चलता है कि इस मुद्दत में रेप की 568 वाकियात हुए। सबसे ज़्यादा 25 वाकियात भोपाल में दर्ज की गईं।

इसके अलावा बैतूल में 22 और राजगढ़ में रेप के 21 मामले दर्ज किए गए। इस अवधि में इज्तिमाई इस्मतरेज़ि के 39 मामले सामने आए। सबसे ज़्यादा ( 4) इज्तिमाई इस्मतरेज़ि विदिषा व देवास में हुए।

हुकूमत की ओर से जारी आंकड़े बताते हैं कि कत्ल की कोशिश, लूट, बलवा, चोरी नकबजनी और अगवा जैसी वारदातें औसतन एक दिन में चार और पांच से ज़्यादा हुई हैं।

TOPPOPULARRECENT