Monday , October 23 2017
Home / District News / बैंगलोर पुलिस पर ज़ुल्म-ओ-ज़्यादती का इल्ज़ाम

बैंगलोर पुलिस पर ज़ुल्म-ओ-ज़्यादती का इल्ज़ाम

मुहतरमा फ़ातिमा बेगम सदर अंजुमन हुसैनी-ओ-रुकन सिटी म्यूनसिंपल कौंसल बीदर ने इल्ज़ाम आइद किया है कि गुज़श्ता दिनों बैंगलौर पुलिस के ज़ाइदाज़ 500 जवानों ने चदरी रोड पर वाक़्य उनकी ईरानी कॉलोनी में रात देर गए घुस कर बिलखुसूस ख़वातीन और बच्

मुहतरमा फ़ातिमा बेगम सदर अंजुमन हुसैनी-ओ-रुकन सिटी म्यूनसिंपल कौंसल बीदर ने इल्ज़ाम आइद किया है कि गुज़श्ता दिनों बैंगलौर पुलिस के ज़ाइदाज़ 500 जवानों ने चदरी रोड पर वाक़्य उनकी ईरानी कॉलोनी में रात देर गए घुस कर बिलखुसूस ख़वातीन और बच्चों के साथ बद सुलूकी की जो काबिल-ए-मुज़म्मत इक़दाम है।

एक मुक़ामी होटल में प्रेस कान्फ्रेंस को मुख़ातिब करते हुए उन्हों बताया कि बैंगलोर पुलिस रात तक़्रीबन ढेढ़ बजे ईरानी कॉलोनी बीदर में दाख़िल हुई और मकानात के दरवाज़े तोड़ कर हमारे पास मौजूद नक़द रक़म और तिलाई जे़वरात लेकर चले गये।

इलावा अज़ीं हमारे 35 अफराद को भी गिरफ़्तार करके बैंगलोर ले जाया गया और उन पर मुख़्तलिफ़ 55 मुक़द्दमात दायर करके उन के साथ ज़ुल्म-ओ-ज़्यादती की। उन्होंने कहा कि अगर इनका कोई शख़्स किसी जुर्म में मुलव्वस है तो वो इसको पुलिस के हवाला करने के लिए तैयार हैं लेकिन बीदर में मुक़ीम किसी बेगुनाह को इस अंदाज़ से गिरफ़्तार करके बैंगलौर ले जाना और मुक़द्दमा दायर करना आख़िर ये कहां का इंसाफ़ है? और इस के ज़िम्मेदार कौन हैं?

फ़ातिमा बेगम ने बताया कि वो गुज़श्ता 25 साल से बीदर में आबाद हैं, हम ख़ानाबदोश ज़िंदगी गुज़ार रहे थे मगर उस वक़्त के डिप्टी कमिशनर बीदर मिस्टर के एल नेगी ने हमें रिहायशी प्लॉट्स अलॉट किए जिस पर हम मकानात तामीर करके अपने कारोबार करते हुए ज़िंदगी बसर कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने ख्वातीन और बच्चों को सिर्फ ज़द्द-ओ-कूब ही नहीं किया बल्कि ख़वातीन को कपड़े उतारने पर मजबूर क्या ये कह कर कि कहीं कपड़ों के अंदर सोना तो छुपाया नहीं है। इससे शर्मनाक बात और क्या हो सकती है कि पुलिस ने हामिला ख़वातीन के पेटों पर मारते हुए पूछा कि कहीं माल यहां तो छुपा कर रखा नहीं है ? उन्होंने बताया कहा इस् खुसूस में इंसानी हुक़ूक़ कमीशन, रियास्ती गवर्नर, चीफ़ मिनिस्टर, वज़ीर-ए-दाख़िला और आई जी पुलिस के इलावा रुकन पार्लीमैंट बीदर जनाब धर्म सिंह, साबिक़ मर्कज़ी वज़ीर जनाब जाफ़र शरीफ़ और मुक़ामी रुकन असेंबली रहीम ख़ान से मुलाक़ात करके सारे हालात से उन्हें वाक़िफ़ किराया है।

उन्होंने मज़ीद बताया कि इन के पासपोर्ट भी ज़ब्त कर लिए गये हैं। कांग्रेस पार्टी से ताल्लुक़ रखने वाली फ़ातिमा बेगम ने एक सवाल के जवाब में बताया कि तमाम सयासी पार्टीयों के ज़िम्मादारान ने इनका तआवुन किया है। प्रेस कान्फ्रेंस के मौक़ा पर मौजूद साबिक़ रुकन असेंबली ज़ुल्फिक़ार हाश्मी ने बैंगलोर पुलिस कमिश्नर के इस ब्यान को ग़लत क़रार दिया कि ईरानी तब्क़ा के बीदर में आलीशान मकानात हैं, हक़ीक़त ये है कि सिवाए एक मकान के बक़ीया तमाम मकानात टीन शेड के हैं।

TOPPOPULARRECENT