Saturday , October 21 2017
Home / Sports / बॉक्सिंग स्टार जोफ्ऱेज़र का कैंसर के बाइस इंतिक़ाल

बॉक्सिंग स्टार जोफ्ऱेज़र का कैंसर के बाइस इंतिक़ाल

फिलेडेल्फिया (पेंसिलवानीया)। 9 नवंबर । (ए एफ़ पी) साबिक़ वर्ल्ड हैवी वेट चमपन अमरीकी बॉक्सर जो फ्ऱेज़र कैंसर के बाइस इंतिक़ाल कर गए। इन की उम्र 67 बरस थी। वो काफ़ी अर्सा से जिगर के कैंसर जैसे मूज़ी मर्ज़ में मुबतला थी। बॉक्सिंग की तारीख़

फिलेडेल्फिया (पेंसिलवानीया)। 9 नवंबर । (ए एफ़ पी) साबिक़ वर्ल्ड हैवी वेट चमपन अमरीकी बॉक्सर जो फ्ऱेज़र कैंसर के बाइस इंतिक़ाल कर गए। इन की उम्र 67 बरस थी। वो काफ़ी अर्सा से जिगर के कैंसर जैसे मूज़ी मर्ज़ में मुबतला थी। बॉक्सिंग की तारीख़ में समोकन के नाम से मारूफ़ फ्ऱेज़र दुनिया के अज़ीम बॉक्सिंग चमपन मुहम्मद अली (कली) को शिकस्त देने वाले पहले बॉक्सर थे।

फ्ऱेज़र को जिगर के सुरतान में मुबतला होने के बाद फिलेडेल्फिया के अस्पताल में इंतिहाई निगहदाशत के शोबा में दाख़िल करा दिया गया था। इन के बारे में एक माह क़बल इन्किशाफ़ हुआ था कि वो जिगर के कैंसर में मुबतला हैं। उन्हों ने बॉक्सिंग के 32 मुक़ाबलों में से 27 मैं नाक आउट फ़तह हासिल की। फ्ऱेज़र का बॉक्सिंग के बादशाह मुहम्मद अली के ख़िलाफ़ खेला गया मुक़ाबला शायक़ीन के ज़हनों में आज भी ताज़ा है जिस में उन्हों ने तारीख़ी कामयाबी हासिल की थी। वो पहले बॉक्सर थे जिन्हों ने मुहम्मद अली को पहली मर्तबा शिकस्त देते हुए नाक आउट किया था।

1975ए- में मुनाक़िदा मुक़ाबला सदी की लड़ाई कहलाया । फ्ऱेज़र ने इस के बाद मुहम्मद अली से दो मुक़ाबले हारी, जिन में मनीला (फ़िलपाइन) में 1975-ए-का सनसनीखेज़ मुक़ाबला शामिल है । बॉक्सिंग की दुनिया में कामयाब कैरीयर शुरू करने से पहले उन्हों ने 1964-ए-के ओलम्पिक मुक़ाबलों में अमरीका केलिए सोने का तमग़ा भी जीता था। फ्ऱेज़र 1976-ए-में बॉक्सिंग से रिटायर हुए थी। फ्ऱेज़र ने 1965-ए-में इंटरनैशनल कैरीयर का आग़ाज़ किया और 1970-ए- में वर्ल्ड हैवी वेट चमपन का टाइटल जीता था।

TOPPOPULARRECENT