Wednesday , September 20 2017
Home / Bihar/Jharkhand / बोधगया : साइबर कैफे से दो संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार, म्यांमार के नागरिकों को निशाना बनाने के फिराक में थे!

बोधगया : साइबर कैफे से दो संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार, म्यांमार के नागरिकों को निशाना बनाने के फिराक में थे!

गया : बिहार के गया में बुधवार की दोपहर स्थानीय पुलिस ने दो संदिग्ध व्यक्तियों को एक साइबर कैफे से पकड़ा है. जिसमें गुजरात में 2008 के अहमदाबाद विस्फोट मामले में वांछित आतंकवादी तौसिफ खान को गिरफ्तार कर लिया. उसके साथ सना खान नामक एक संदिग्ध को भी पकड़ा गया है. दोनों राजेंद्र आश्रम स्थित एक साइबर कैफे से नेट सर्फिंग करके निकले ही थे कि पुलिस के हत्थे चढ़ गये. इन दोनों संदिग्धों की गया के सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन में गहन पूछताछ चल रही है. खुफिया विभाग के अधिकारी भी संदिग्धों से लगातार पूछताछ कर रहे हैं. सूचना मिली है कि दिल्ली से एनआईए की एक टीम भी गया पहुंच रही है. पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, माना जा रहा है कि म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर उत्पीड़न के खिलाफ बदले की भावना से बोधगया में ये आतंकी म्यांमार के नागरिकों को निशाना बनाने के फिराक में थे.

सिटी डीएसपी आलोक सिंह ने बताया कि विगत कुछ दिनों से राजेंद्र आश्रम स्थित एक साइबर कैफे में नेट चैटिंग के लिए तौसिफ खान व सना खान का आना-जाना लगा हुआ था. पुलिस को इसकी जानकारी मिली थी. बुधवार को जैसे ही तौसिफ व सना के साइबर कैफे में होने की सूचना मिली, पुलिस के जवान भी वहां पहुंचे. इस बीच दोनों वहां से फरार होने के चक्कर में थे पर पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए दोनों को लगे हाथ दबोच लिया. कैफे मालिक से हुई बातचीत के मुताबिक, उनके स्टाफ ने विगत दिनों बताया था कि दिल्ली पुलिस द्वारा फरार चल रहे आतंकियों का एक विज्ञापन छपवाया गया था. उसमें पांच लोगों के फोटो थे. उसका अनुमान था कि उन पांच में से दो लोग उसके कैफे में आ रहे हैं. इनका हुलिया विज्ञापन में छपे फोटो से बहुत हद तक उसने मिलता-जुलता बताया था. उसने अपने स्टाफ को कहा कि अगली बार आयेंगे, तो पुलिस को सूचना दे दी जायेगी.

बुधवार को जब ये संदिग्ध साइबर कैफे पहुंचे, तो पुलिस को फोन पर सूचना दे दी गयी. पर, पुलिस को सूचना मिलने का शक होते ही कंप्यूटर पर काम कर रहे दोनों आतंकी सर्फिंग छोड़ कर कैफे से भागने लगे. इस पर कैफे मालिक ने उन दोनों को रोकना चाहा, पर वे नहीं रुके. पर इसी बीच सिविल लाइंस थाने की पुलिस भी वहां पहुंच गयी और दोनों दबोच लिये गये. पुलिस इन दोनों से जानने की कोशिश कर रही है कि ये दोनों कौन हैं और कहां से आए हैं.

सना खान ने संवाददाता को बताया कि करमौनी में मस्जिद के पास उसकी एक साथ 18 दुकानें हैं, जो किराये पर चलती हैं. वहीं, तौसिफ ने बताया कि वह करमौनी में अपना एक स्कूल चलाता है. हालांकि, स्कूल का नाम पूछे जाने पर वह कुछ भी नहीं बता सका. सिविल लाइंस के साथ कोतवाली थाने की पुलिस भी मामले की छानबीन में जुटी. थोड़ी देर बाद ही पुलिस के बड़े अधिकारी भी पहुंचने लगे. उधर, बोधगया में भी पुलिस की एक टीम विभिन्न होटलों व संदिग्ध स्थानों पर छापेमारी कर रही है. अनुमान है कि इस मामले में और लोग दबोचे जा सकते हैं.

TOPPOPULARRECENT