Thursday , October 19 2017
Home / India / बोधिनी से कांग्रेस ने मज़बूत उम्मीदवार खड़ा नहीं किया: दिग्विजय‌ सिंह

बोधिनी से कांग्रेस ने मज़बूत उम्मीदवार खड़ा नहीं किया: दिग्विजय‌ सिंह

कांग्रेस जेनरल सेक्रेटरी दिग्विजय‌ सिंह ने आज एक अहम बयान देते हुए कहा कि उनकी पार्टी 25 नवंबर को होने वाले एसेंबली इंतिख़ाबात केलिए बोधिनी हल्क़ा राय दही में वज़ीर-ए-आला शिव राज सिंह चौहान के ख़िलाफ़ कोई मज़बूत उम्मीदवार खड़ा करने मे

कांग्रेस जेनरल सेक्रेटरी दिग्विजय‌ सिंह ने आज एक अहम बयान देते हुए कहा कि उनकी पार्टी 25 नवंबर को होने वाले एसेंबली इंतिख़ाबात केलिए बोधिनी हल्क़ा राय दही में वज़ीर-ए-आला शिव राज सिंह चौहान के ख़िलाफ़ कोई मज़बूत उम्मीदवार खड़ा करने में नाकाम रही।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस चौहान के ख़िलाफ़ एक तजुर्बाकार और नामवर उम्मीदवार को मैदान में उतारना चाहते थे लेकिन मंसूबा बंदी सही ना होने की वजह से तजुर्बाकार उम्मीदवार का इंतिख़ाब नहीं होसका। याद रहे कि कांग्रेस ने बोधिनी से नए चेहरे डाक्टर महिन्द्र सिंह चौहान और विदीशा से शशांक भार्गव का इंतिख़ाब किया है।

वज़ीर-ए-आला चौहान के मुक़ाबले ये दोनों नए चेहरे ना तजुर्बा कार हैं और अवाम उनके साथ किया मुआमला करेगी ये तो आने वाला वक़्त ही बताएगा। वज़ीर-ए-आला चौहान तीसरी मीयाद केलिए कोशिश‌ हैं। उन्होंने कहा कि जहां तक भार्गव का सवाल है तो वो पार्टी के एक सीनियर लीडर हैं जबकि महिंद्रा सिंह एसेंबली में क़ाइद अपोज़ीशन अजय सिंह के क़रीबी में शामिल हैं।

बैक वक्त दो हल्क़ों से इंतिख़ाब लड़ने केलिए वज़ीर-ए-आला को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए दिग्विजय‌ सिंह ने मुस्कुराते हुए कहा कि बी जे पी क़ियादत ने शायद चौहान की अहलिया साधना सिंह को टिकट देने पर रजामंदी ज़ाहिर ना की होगी इसी लिए चौहान उस का अज़ाला करते हुए दोनों नशिस्तों के उम्मीदवार बन गए या फिर ऐसा भी होसकता है कि इंतिख़ाबात के बाद चौहान एक नशिस्त को अपनी अहलिया केलिए रखना चाहते हों। मध्य प्रदेश में शिव‌राज सिंह चौहान शायद वो वाहिद लीडर हैं जो दो नशिस्तों पर मुक़ाबला कररहे हैं।

TOPPOPULARRECENT