Sunday , October 22 2017
Home / Uttar Pradesh / ब्रेथ एनालाइजर का इस्तेमाल करेगी रांची ट्रैफिक पुलिस

ब्रेथ एनालाइजर का इस्तेमाल करेगी रांची ट्रैफिक पुलिस

रांची 6 जून : दारुल हुकूमत को जाम से निजात दिलाने और सड़क हादसात को रोकने के लिए ट्रैफिक पुलिस जुमेरात से ह्वील लॉक और ब्रेथ एनालाइजर मशीन का इस्तेमाल करेगी। रांची रियासत का पहला जिला है, जहां ह्वील लॉक का इस्तेमाल होगा। यह जानकारी

रांची 6 जून : दारुल हुकूमत को जाम से निजात दिलाने और सड़क हादसात को रोकने के लिए ट्रैफिक पुलिस जुमेरात से ह्वील लॉक और ब्रेथ एनालाइजर मशीन का इस्तेमाल करेगी। रांची रियासत का पहला जिला है, जहां ह्वील लॉक का इस्तेमाल होगा। यह जानकारी ट्रैफिक एसपी राजीव रंजन सिंह ने सहफियों को दी।ट्रैफिक एसपी ने इस दौरान मशीन का डेमो भी दिखाया।

क्या है ह्वील लॉक

उन्होंने बताया कि ह्वील लॉक लगाने का मकसद लोगों को नो पार्किग में गाड़ी को लगाने से रोकना है। दो पहिया,चार पहिया और दीगर गाड़ियों में भी ह्वील लॉक का इस्तेमाल किया जायेगा।

नो पार्किग में लगे गाड़ियों में ह्वील लॉक लगाकर अफसरों का मोबाइल नंबर का परचा चिपका दिया जायेगा। गाड़ी मालिक उस नंबर पर राब्ता कर जुर्माना देकर अपने गाड़ी को ले जा सकेंगे। दो पहिया गाड़ी से 110 रुपये और चार पहिया और दीगर बड़े गाड़ियों को 540 रुपये जुर्माना वसूला जायेगा। ह्वील लॉक का इस्तेमाल आम तौर पर मेट्रो सिटी में होता है।

TOPPOPULARRECENT