Saturday , August 19 2017
Home / International / बड़ी खबर- विकिलीक्स का खुलासा, मोदी की यात्रा को सफल बनाने में जुटी थी अमेरिकी सरकार

बड़ी खबर- विकिलीक्स का खुलासा, मोदी की यात्रा को सफल बनाने में जुटी थी अमेरिकी सरकार

वाशिंगटन, प्रेट्र : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सिलिकॉन वैली यात्रा को अमेरिकी सरकार हर हाल में सफल बनाना चाहती थी| वर्ष 2015 की मोदी की अमेरिकी यात्रा लेकर विकिलीक्स की ओर से जारी नए दस्तावेज में कई नई बातें सामने आई हैं |

ओबामा सरकार ने मोदी के सिलिकॉन वैली आने से डेढ़ महीने पहले ही इस यात्रा को सफल बनाने के प्रयास शुरू कर दिए थे | हिलेरी क्लिंटन के चुनाव अभियान के अध्यक्ष जॉन पॉडेस्टा से भी इस बारे में सलाह मांगी गयी थी | जॉन पॉडेस्टा को दक्षिण एवं मध्य एशियाई मामलों की सहायक विदेश मंत्री निशा देसाई बिसवाल ने 12 अगस्त को ई-मेल भेजकर इस बारे में सलाह मांगी थी | पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन द्वारा स्टेनफोर्ड विश्वविद्यालय में स्वच्छ ऊर्जा पर आयोजित सम्मेलन की मेजबानी करवाने के विकल्प पर भी बिसवाल ने चर्चा की थी |

इस यात्रा को लेकर भारत सरकार के व्यापक हित जुड़े होने की बात भी पॉडेस्टा को बतायी गयी थी |खासकर नई दिल्ली का ध्यान डिजिटल इकोनोमी और स्वच्छ ऊर्जा पर केंद्रित है | मेल में गूगल द्वारा भारत में बड़ा निवेश करने की भी संभावना जताई गयी थी।

बिसवाल ने पॉडेस्टा से मालूम किया गया था कि भारत स्टेनफोर्ड में चर्चा के दौरान कैबिनेट रैंक के प्रतिनिधि की मौजूदगी चाहता है | लेकिन चर्चा में वाणिज्य मंत्री पेन्नी प्रिट्जकर शामिल नहीं हो पाएंगे| चीनी राष्ट्रपति की यात्रा के चलते जॉन केरी और ऊर्जा मंत्री अर्नेस्ट मोनिज भी शामिल नहीं हो पाएंगे| ऐसे में क्या आप कोई विकल्प का सुझाव दे सकते हैं? अमेरिकी विदेश मंत्रालय द्वारा इस खबर की पुष्टि नहीं की गयी है |

वर्ष 2008 में राष्ट्रपति की ट्रांजीशन टीम में शामिल होने वाली पहली भारतवंशी सोनल शाह ने भारतीय मीडिया से बचने के लिए ओबामा की टीम के शीर्ष नेतृत्व से सलाह ली थी | जारी दस्तावेज़ में कहा गया है कि सोनल शाह भारतीय मीडिया से परेशान थीं | गुजरात दंगे को लेकर भारतीय मीडिया ने उनपर कट्टरपंथी होने का आरोप लगाया था। जारी दस्तावेज के मुताबिक परेशान सोनल ने ओबामा टीम से इसे नियंत्रित करने का आग्रह किया था|

TOPPOPULARRECENT