Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / भद्राचलम को तेलंगाना में बरक़रार रखा जाये : डिप्टी स्पीकर

भद्राचलम को तेलंगाना में बरक़रार रखा जाये : डिप्टी स्पीकर

डिप्टी स्पीकर रियास्ती क़ानूनसाज़ असेम्बली भाटी विक्रमार्का जो ज़िला खम्मम से ताल्लुक़ रखते हैं, खम्मम ज़िले के भद्राचलम को आंध्र इलाक़ा के हवाले करने के मुतालिबात की मुख़ालिफ़त की और भद्राचलम डीविझ़न को इलाक़ा तेलंगाना में बरक़रार र

डिप्टी स्पीकर रियास्ती क़ानूनसाज़ असेम्बली भाटी विक्रमार्का जो ज़िला खम्मम से ताल्लुक़ रखते हैं, खम्मम ज़िले के भद्राचलम को आंध्र इलाक़ा के हवाले करने के मुतालिबात की मुख़ालिफ़त की और भद्राचलम डीविझ़न को इलाक़ा तेलंगाना में बरक़रार रखने का मुतालिबा किया और इस सिलसिले में की जाने वाली किसी भी कोशिश के ख़िलाफ़ सख़्त इंतिबाह दिया और कहा कि भद्राचलम डीविझ़न की आंधरा इलाक़े को मुंतक़ली के मसले पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

उन्होंने पोलावरम प्रोजेक्ट का तज़किरा करते हुए कहा कि पोलावरम प्रोजेक्टस‌ की तामीर से ज़िला खम्मम के मुक़ामात ज़ेर-ए-आब ना आने जैसे इक़दामात करने पर पोलावरम प्रोजेक्टस‌ की तामीर पर कोई एतराज़ नहीं रहेगा। उन्होंने अलैहदा तेलंगाना मसले पर कहा कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी और यू पी ए की हलीफ़ जमातों ने रियासत की तक़सीम के ज़रीया अलैहदा तेलंगाना की तशकील अमल में लाने का क़तई फ़ैसला किया है लेकिन इस के बावजूद सीमा आंध्र क़ाइदीन बिशमोल रियासती वुज़रा के इलावा ख़ुद चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी मर्कज़ी काबीना के फ़ैसले की मुख़ालिफ़त करके मुत्तहदा रियासत की बरक़रारी का मुतालिबा कर रहे हैं।

उन्होंने इन क़ाइदीन की कोशिशों का मुज़हका उड़ाया और कहा कि सब कुछ जानते बूझते इस तरह के इक़दामात सिवाए सीमा आंध्र अवाम को ख़ुश करने और कुछ नहीं है। बटी विक्रमार्का डिप्टी स्पीकर असेम्बली ने कहा कि दस अज़ला पर मुश्तमिल अलैहदा रियासत तेलंगाना की तशकील के लिए ग्रुप आफ़ मिनिस्टर्स को पेश की जाने वाली रिपोर्ट में वो अपने इस मुतालिबे का इआदा करेंगे बल्कि ग्रुप को मनवा कर सिफ़ारिशात पेश करने पर मजबूर करेंगे।

TOPPOPULARRECENT