Thursday , September 21 2017
Home / Bihar/Jharkhand / भाई ने ही भाई के पूरे परिवार को जला कर मार डाला

भाई ने ही भाई के पूरे परिवार को जला कर मार डाला

बारसोई (कटिहार) : बिहार में कटिहार के बारसोई में भूमि विवाद को लेकर सहोदर भाई ने अपने ही भाई के सपरिवार को सोते अवस्था में जला दिया. जिससे दंपती सहित दो पुत्री की मौत हो गयी. एक पुत्र दादा के पास सोया था. जिस कारण उसकी जान बच गयी. मामला बारसोई थाना क्षेत्र के चांदी पंचायत के मछुआ टोली गांव का है. मृतक के पुत्र लक्ष्मण कुमार सिंह के आवेदन पर बारसोई थाना में मृतक के भाई मनोज कुमार सिंह के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. पुलिस आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी कर रही है. 

मरने वालों में केदारनाथ सिंह 45, प्रतिमा देवी 40, सोनी कुमारी 17 एवं डिंपल कुमारी 15 शामिल है. मृतक के पुत्र लक्ष्मण कुमार ने बताया कि गुरुवार की रात्रि वह अपने दादा कौशल चंद्र दास के पास सोया हुआ था. देर रात लगभग दो बजे बहुत जोर के विस्फोट की आवाज हुई. जिससे मेरी नींद खुली तो देखा कि उसके माता-पिता व दो बड़ी बहन जिस कमरे में सोये थे, उसमें आग की लपटें निकल रही है. कमरे में बाहर से ताला लगा हुआ था.

उसने बताया कि विस्फोट की आवाज से परिवार के अन्य सदस्य भी जग गये. परंतु उसके चाचा आरोपित मनोज कुमार सिंह गायब थे और उनके कमरे में ताला लगा हुआ था. आरोपित मनोज कुमार सिंह मृतक के बगल वाले कमरे में ही सोता था. सबों ने दावा करते हुए कहा कि मृतक के भाई मनोज कुमार सिंह से जमीन न बेचे जाने को लेकर विवाद चल रहा था. जिस कारण उसके भाई ने ही खिड़की से पेट्रोल डाल कर आग लगायी है. सब ने मिल कर आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन कमरे के बाहर से ताला लगे रहने के कारण उनके माता-पिता एवं बहन बुरी तरह से झुलस गये.

किसी तरह से ग्रामीणों के सहयोग से दरवाजा तोड़ा गया. दरवाजा टूटने के बाद पहले तो सबों ने आग बुझाने का प्रयास किया. उसके बाद देखा गया कि आग में जल कर उसकी माता प्रतिमा देवी एवं बहन डिंपल कुमारी की मौत हो चुकी थी. पिता केदारनाथ सिंह एवं सोनी कुमारी सिंह बुरी तरह झुलस कर घायल हो गयी थी. जिसे सबने मिल कर अनुमंडल अस्पताल बारसोई लाया. जहां घायलों की स्थिति को गंभीर देखते हुए बेहतर चिकित्सा के लिए उन्हें कटिहार सदर अस्पताल रेफर कर दिया.

कटिहार पहुंचते ही बहन सोनी कुमारी की मौत हो गयी. वही पिता केदारनाथ सिंह को मेडिकल कॉलेज कटिहार रेफर कर दिया गया. इलाज के क्रम में पिता ने भी दम तोड़ दिया. घटना के बाद गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है. आक्रोशित ग्रामीण आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए कटिहार भेज दिया है. आगे की कार्रवाई के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है.

डीआइजी ने दिये जांच के आदेश
रिश्ते को कलंकित कर देने वाली घटना के बाद पूर्णिया के डीआइजी सौरभ कुमार, कटिहार एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन, अनुमंडल पदाधिकारी फिरोज अख्तर ने सोमवार को बारसोई थाना अंतर्गत चौंदी पंचायत के मछुआ टोली गांव जाकर घटनास्थल का जायजा लिया. इस दौरान पदाधिकारियों ने घटनास्थल के सभी चीजों को बड़ी बारिकी से जांच पड़ताल किया. उपस्थित परिवार के अन्य सदस्यों एवं ग्रामीणों से वस्तु स्थिति के बारे में विस्तार से पूछताछ की. ग्रामीण हर हाल में आरोपित के गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे.

ग्रामीण एवं परिवार वालों का कहना था कि अगर आरोपित पकड़ा नहीं जायेगा तथा उसे कड़ी सजा नहीं होगी तब तक मृतकों के बचे हुए एकमात्र संतान लक्ष्मण कुमार के जान को भी खतरा बना रहेगा. डीआइजी सौरभ कुमार ने परिवार वालों एवं ग्रामीणों को आश्वस्त करते हुए कहा कि आरोपित हर हाल में पकड़ा जायेगा. जिसके लिए पुलिस अपनी कार्रवाई प्रारंभ कर दी है. बहुत जल्द ही वह पुलिस की गिरफ्त में होगा. उन्होंने कहा कि मामले को गंभीरता से लिया गया है. इसकी जांच के लिए फॉरेंसिक टीम को लगाया जा रहा है. इस दौरान डीआइजी ने एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन को भी आवश्यक दिशा निर्देश दिया है.

TOPPOPULARRECENT