Saturday , September 23 2017
Home / test / भागवत का बस चले तो औरतों को चूल्हा चक्की से बाहर ही ना आने दे : दिग्विजय सिंह

भागवत का बस चले तो औरतों को चूल्हा चक्की से बाहर ही ना आने दे : दिग्विजय सिंह

दिल्ली : आगरा में एक सभा को खिताब करते हुए मोहन भागवत ने कहा था ‘अगर बीवी घर का काम-काज नहीं संभाल सकती तो शौहर को चाहिए कि वो उसे छोड़ दे.’ भागवत का ये वीडियो सोशल मीडिया पर ख़ासा वायरल हुआ. दिग्विजय सिंह ने रियो ओलंपिक में पीवी सिंधु और साक्षी मलिक के मेडल जीतने का ज़िक्र करते हुए ट्वीट किया, “मोहन भागवत जी ये तो ख़ैर मनाइये कि औरतों ने ओलंपिक खेलों में भारत की लाज रख ली, अगर आपका बस चले तो उन्हें चूल्हा चक्की से बाहर ही ना आने दो.” विडियो दो दिन पहले ही सियासत हिन्दी ने अपने वेबसाइट पर चलाया था और उसी दिन से सोशल मीडिया पर जबर्दस्त वायरल हुआ। मोहन भागवत ने कथित तौर पर ये भी कहा था कि भारत में मुसलमानों की जनसंख्या वृद्धि दर ज़्यादा है और वो एक दिन हिंदुओं से ज़्यादा हो जाएंगे. मालूम हो की भागवत का ये विडियो दो दिन पहले ही सियासत हिन्दी ने अपने वेबसाइट पर चलाया था और उसी दिन से सोशल मीडिया पर जबर्दस्त वायरल हुआ।

भागवत ने ये भी कहा था कि हिंदुओं को ज़्यादा बच्चा पैदा करने से कौन सा क़ानून रोकता है? जिसके जवाब में दिग्विजय सिंह ने लिखा, “मैं आरएसएस के किसी भी कार्यकर्ता को इस मुद्दे पर बहस की दावत देता हूं. मुसलमानों की संख्या, हिंदुओं से ज़्यादा कभी नहीं हो सकती क्योंकि मुस्लिम जनसंख्या वृद्धि दर भी घटी है.” दिग्विजय सिंह ने ये भी लिखा कि जनसंख्या वृद्धि दर ग़रीबी पर निर्भर करती है ना कि धर्म विशेष पर. आरएसएस और भाजपा राजनीतिक लाभ के लिए अफ़वाह फैला रहे हैं. इस बीच, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी भागवत के बयान की निंदा की है. केजरीवाल ने ट्वीट किया, “हिंदुओं को भड़काने के पहले भागवत जी ख़ुद 10 बच्चे पैदा करके उनकी अच्छी परवरिश करके दिखाएं.”

साभार : बीबीसी हिन्दी

TOPPOPULARRECENT