Thursday , August 17 2017
Home / India / भारतीय मीडिया के दुष्प्रचार के बावजूद दुनिया के ‘500 प्रभावशाली मुसलमानों’ में ज़ाकिर नाईक

भारतीय मीडिया के दुष्प्रचार के बावजूद दुनिया के ‘500 प्रभावशाली मुसलमानों’ में ज़ाकिर नाईक

दुनिया के 500 ‘सबसे प्रभावशाली मुसलमानों’ की लिस्ट में शामिल भारतीय मुसलमानों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है | पिछले साल कि तरह इस बार भी लिस्ट में दो दर्ज़न से ज़्यादा भारतीय मुसलमान शामिल हैं| रॉयल आल अल –बेत इंस्टीट्यूट फॉर इस्लामिक थॉट  के साथ संबद्ध, ओमान स्थित एक स्वतंत्र अनुसंधान इकाई ‘रॉयल इस्लामिक स्ट्रेटेजिक स्टडीज सेंटर’ (RISSC)  ने ये लिस्ट तैयार की है |

इस लिस्ट में खास बात ये है कि डॉ जाकिर नाइक के नाम के साथ माननीय लिखा गया है | इससे पता चलता है कि जुलाई में बांग्लादेश के एक कैफ़े में हुए आतंकी हमले के बाद डॉ नाइक के खिलाफ भारतीय मीडिया द्वारा जो निंदा अभियान चलाया गया था | इस निंदा अभियान का दुनिया भर में उनकी प्रतिष्ठा पर कोई फ़र्क नहीं पड़ा है | वह अभी भी मुस्लिम दुनिया में तारीफ़ के क़ाबिल माने जाते हैं |
रॉयल आल अल–बेत एक स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय इस्लामी गैर सरकारी संस्थान है जिसका मुख्यालय जॉर्डन की राजधानी अम्मान में है | RISSC द्वारा ये 8वे साल की लिस्ट जारी गयी है | इसमें 13 केटेगरी विद्वान, राजनेता,धार्मिक प्रशासक, प्रचारक और आध्यात्मिक गाइड,परोपकार / चैरिटी और विकास,सामाजिक मुद्दे, व्यापार,विज्ञान और प्रौद्योगिकी, कला और संस्कृति, क़ुरान रीसईटर्स ,मीडिया, सेलिब्रेटी और स्पोर्ट्स स्टार, एक्सट्रीमिस्ट, में दुनिया के प्रभावशालीमुसलमानों  का चयन किया जाता है | 500 सबसे प्रभावशाली मुसलमानों की पूरी लिस्ट को www.themuslim500.com पर पढ़ा जा सकता है |

इस लिस्ट में टॉप 50 में भारत के बरेलवी नेता मुफ्ती अख्तर रजा खान और जमीयत उलेमा-ए-हिंद के नेता मौलाना महमूद मदनी शामिल हैं| मुफ्ती अख्तर रजा खान 23वें स्थान पर जबकि महमूद मदनी को 39 वें स्थान पर रखा गया है |

विद्वानों कि केटेगरी में अल मुस्तफा, अल्लामा जिया, वहीदुद्दीन खान ,राबे हसन नदवी,बहाउद्दीन नदवी, मोहम्मद जमालुद्दीन

राजनेताओं में : डॉ मोहम्मद उमर फारूक, खास बात ये है कि सांसद असदुद्दीन ओवैसी को राजनेता कि केटेगरी में न रखकर धार्मिक मामलों के प्रशासक की केटेगरी में रखा गया है| क्योंकि उनका परिवार दार-उस-सलाम एजुकेशनल ट्रस्ट के तहत विभिन्न शिक्षा संस्थान चलाता है।

धार्मिक मामलों के प्रशासन में : शेख़ अबुबक्र अहमद , सैयद इब्रहिमुल खलील, मौलाना शाकिर अली नूरी, सांसद असदुद्दीन औवेसी

प्रचारकों और आध्यात्मिक गाइड: हजरत अल्लामा मौलाना कमुरुज्ज़मा आज़मी, मौलाना अरशद मदनी, डॉ ज़ाकिर अब्दुल करीम नाइक, सैयदना मुफ्द्द्ल सैफुद्दीन, शेख डॉ थैका शुएब क़ादरी, इस लिस्ट में इस साल एक नया चेहरा प्रोफेसर सईद अमीन मियां क़ादरी का भी शामिल हुआ है |
परोपकार, उदारता और विकास: अजीम प्रेमजी, मौलाना बदरुद्दीन अजमल क़ासमी
कला और संस्कृति: शबाना आज़मी , आमिर खान ,ए आर(अल्लाह रक्खा) रहमान

इसके अलावा किसी भी भारतीय मुस्लिम को सामाजिक मुद्दे, व्यापार,विज्ञान और प्रौद्योगिकी, क़ुरान रिसाइटर्स, मीडिया, सेलिब्रेटी और स्पोर्ट्स स्टार, एक्सट्रीमिस्ट की केटेगरी में शामिल नहीं किया गया है |

TOPPOPULARRECENT