Monday , September 25 2017
Home / International / भारतीय मूल के भाई बहन को ISIS समर्थक होने के संदेह में फ्लाईट से उतरने के लिए किया गया मजबूर

भारतीय मूल के भाई बहन को ISIS समर्थक होने के संदेह में फ्लाईट से उतरने के लिए किया गया मजबूर

लंदन:भारतीय मूल के तीन बहन भाइयों जिसमें दोनों लड़कियों ने हिजाब पहना हुआ था को  लंदन में एक हवाई अड्डे पर एक यात्री द्वारा उन पर आईएसआईएस समर्थक होने का आरोप लगाने के बाद फ्लाईट से उतारकर ब्रिटिशपुलिसकर्मियों द्वारा उनसे पूछताछ की गयी |

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ सकीना धरास 24, मरियम धरास 19, और अलीधरास  21, पिछले हफ़्ते स्टेंस्टेड से नेपल्स के इतालवी शहर जाने के लिए  इजी जेट फ्लाईट में सवार हुए थे जब केबिन क्रू मेंमबर ने उन्हें बिना कुछ बताये अपने साथ आने के लिए कहा |सकीना ने इस मामले के बारे में द इंडिपेंडेंट और फेसबुक पोस्ट में बताया कि नार्थ ईस्ट लन्दन में इन तीनों भाई बहन को विमान से बाहर ले जाकर अधिकारियों ने उनसे 1 घंटे तक पूछताछ की | सकीना ने कहा कि अधिकारियों में से एक ने हमसे पूछा कि क्या आप इंग्लिश बोलते हैं ? हमें आपसे पूछताछ करनी है क्यूँकि हमारी फ्लाईट के एक यात्री ने दावा किया है कि आप तीन आईएसआईएस के सदस्य हैं|उसने तुम्हे अपने फ़ोन पर अरबी में अल्लाह की तारीफ़ करते हुए देखा था |

Facebook पर हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करें

अपने जवाब में तीनों बहन भाइयों ने कहा कि क़ुरान हमारे धार्मिक पाठ का एक हिस्सा है इसलिए अगर हमने ऐसा कुछ लिखा है इसका मतलब ये नहीं है कि हम आईएसआईएस से संबंध रखते हैं |उन्होंने कहा कि हमने आज सुबह से अपने फ़ोन में अरबी में कुछ नहीं लिखा है | हम भारतीय हैं और हम अरबी में किसी से बातचीत नहीं कर सकते हैं |
सकीना ने बताया कि 1 घंटे की पूछताछ के दौरान उससे उसके पासपोर्ट पर मौजूद बहुत सी एंट्री स्टैम्प के बारे में पूछा गया| उसने अपने वाट्सऐप पर मौजूद एक एमआइ 5 एजेंट हाल ही का मैसेज भी दिखाया | इसके अलावा इन तीनों से इनके काम ,सोशल मीडिया हिस्ट्री , एड्रेस और पैरेंट्स के काम के बारे में भी मालूमात की गयी | एमआइ 5 और पुलिस अधिकारियों असुविधाके लिए माफी मांगते हुए उन्हें आगे यात्रा के लिए अनुमति दे दी गयी |
टेलीग्राफ के हवाले से एक प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस कप्तान ने भी इस बात की पुष्टि की है कि यात्रियों को उनकी यात्रा को पूरा करने के लिए मंजूरी दे दी गयी थी और वे फिर से विमान में सवार हुए और फ्लाईट नेपल्स के लिए चली गयी |

सकीना ने अपनी पोस्ट में लिखा कि हमसे  संदेह के आधार पर पूछताछ की गयी थी लेकिन जिस यात्री ने ये झूठा आरोप लगाकर पुलिस का समय बर्बाद किया था उसे फ्लाईट से क्यूँ नहीं उतारा गया |

इस बारे में अधिकारियों का कहना था कि अपने अपने यात्रियों और चालक दल की सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है अगर किसी ने सुरक्षा से जुड़ा कोई मुद्दा उठाया है तो उसके लिए हम हमेशा एक एहतियाती उपाय के रूप में यह जांच करेंगे साथ ही हम अपने हम यात्रियों को हुई किसी भी असुविधा के लिए माफी मांगते हैं |

TOPPOPULARRECENT