Saturday , September 23 2017
Home / Featured News / भारत-पाक बातचीत में कश्मीर शर्त नहीं होना चाहिए: ब्रिटेन

भारत-पाक बातचीत में कश्मीर शर्त नहीं होना चाहिए: ब्रिटेन

index

इस्लामाबाद।भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत के लिए कश्मीर मुद्दे का समाधान पूर्व शर्त नहीं होना चाहिए। ब्रिटेन के विदेश सचिव फिलिप हैमंड ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने दोनों देशों से कहा है कि राज्येतर संगठन और अन्य दबाव समूहों को शांति प्रक्रिया को बाधित करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।पाकिस्तान से कहा कि दो जनवरी को हुए पठानकोट हमले की जांच तेज की जाए, जिसमें भारत ने पाकिस्तान के जैश ए मोहम्मद आतंकवादी समूह को जिम्मेदार ठहराया है।

हैमंड ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा,वार्ता प्रक्रिया शुरू करने के लिए कश्मीर मुद्दे का समाधान पूर्व शर्त नहीं होना चाहिए। वह यहां एकदिवसीय दौरे पर आए थे।उन्होंने कहा,मैं भारत और पाकिस्तान दोनों से अपील करता हूं कि राज्येतर संगठनों और अन्य दबाव समूहों को वार्ता प्रक्रिया को पटरी से उतारने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।पठानकोट आतंकवादी हमले की तत्परता से जांच की पाकिस्तान की प्रतिबद्धता का मैं स्वागत करता हूं और हमें उम्मीद है कि इस जांच को आगे बढ़ाया जाएगा।

अजीज ने कहा कि संयुक्त जांच दल पठानकोट हमले की जांच पूरी करने की प्रक्रिया में है। उन्होंने कहा,जांच दल अगले कुछ दिन में भारत का दौरा करेगा।’ अजीज ने कहा कि दोनों देशों के विदेश सचिवों की बैठक के लिए कोई पूर्व शर्त नहीं है।

TOPPOPULARRECENT