Saturday , September 23 2017
Home / Sports / भारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट-4 : विराट कोहली का शतक के साथ भारत पहुंचा मजबूत स्थिति में

भारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट-4 : विराट कोहली का शतक के साथ भारत पहुंचा मजबूत स्थिति में

मुंबई : मुंबई टेस्ट मैच में विराट कोहली ने दो उपलब्धियां अपने नाम की. कोहली ने टेस्ट करियर में पहली बार किसी कैलेंडर ईयर में 1000 रन बनाए हैं. इसके साथ ही उन्होंने करियर में 4000 रन भी पूरे किए. पारियों के लिहाज से वो सबसे तेज चार हजार रन पूरे करने वाले भारत के छठे बल्लेबाज भी बन गए हैं. कोहली से इस मुकाबले में बड़ी पारी की उम्मीद है.

भारत और इंग्‍लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का चौथा मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला जा रहा है। तीसरे दिन का खेल जारी है। इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 400 रनों का विशाल स्कोर बनाया है। तीसरे दिन सुबह जब भारत ने दूसरे दिन के अपने स्कोर एक विकेट पर 146 रन से आगे खेलना शुरू किया तो चेतेश्वर पुजारा जेक बॉल के दिन के पहले ओवर की दूसरी ही गेंद पर 47 रन के स्कोर पर बोल्ड आउट हो गए।

उसके बाद क्रीज पर कप्तान विराट कोहली क्रीज पर मुरली विजय का साथ देने आए। कोहली से टीम इंडिया को एक बार फिर अच्छी पारी की उम्मीद है, क्योंकि टेस्ट मैचों में टीम इंडिया के कप्तान कोहली का बल्ला इस साल दो दोहरे शतक के साथ कमाल दिखा रहा है। उन्होंने इस साल इससे पहले के 10 टेस्ट में 965 रन बनाए हैं। ऐसे में मुंबई में वह एक कैलेंडर ईयर में एक हजार रन को छू सकते हैं। साथ ही टेस्ट करियर में 4 हजार रन भी पूरा कर सकते हैं. वह अब तक 3959 रन बना चुके हैं और इससे 41 रन दूर हैं।

दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक एक विकेट खोकर 146 रन बनाने वाली टीम इंडिया को तीसरे दिन का खेल शुरू होने पर चेतेश्वर पुजारा और मुरली विजय से बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन पुजारा दिन की दूसरी ही गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने जेक बॉल की गेंद को दोनों हाथ ऊपर उठाकर जाने दिया, लेकिन वह उनका ऑफ स्टंप उड़ा गई. पुजारा ने आउट होने से पहले विजय के साथ 107 रन जोड़े।

यह मैच ड्रा भी रहता है तो भारत सीरीज जीत जाएगा. इससे पहले इंग्लैंड ने 2011 में इंग्लैंड में, 2012 में भारत में और 2014 में फिर इंग्लैंड में भारत को हराया था. वानखेड़े पर पिछले दो टेस्ट में इंग्लैंड ने भारत को हराया है और 2012 का टेस्ट तो खासकर इसलिए याद रखा जाएगा क्योंकि केविन पीटरसन ने भारतीय सरजमीं पर किसी विदेशी बल्लेबाज की सबसे उम्दा पारियों में से एक खेली थी.

TOPPOPULARRECENT